यूपी बोर्ड परीक्षा पर समाजवादी पार्टी की मांग कितनी जायज

लखनऊ: समाजवादी पार्टी ने यूपी बोर्ड परीक्षा से जुड़े मामले में ट्वीट करके अपनी मांग रखी। इसमें परीक्षा को रद्द किए जाने की बात कही गई। मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मीटिंग के बाद सीबीएसई बोर्ड 12वीं की परीक्षा को कैंसिल करने का निर्णय लिया। इसके बाद उत्तर प्रदेश में भी यह मांग उठने लगी।

यूपी सरकार रद्द करे इंटर की परीक्षा

समाजवादी पार्टी की तरफ से कहा गया कि केंद्र सरकार ने जिस तरह सीबीएसई इंटरमीडिएट की परीक्षा रद्द कर दी है। वैसे ही उत्तर प्रदेश सरकार को भी निर्णय लेना चाहिए। जब तक सभी छात्रों का टीकाकरण नहीं हो जाता, परीक्षा कराना बिल्कुल भी सही कदम नहीं कहा जाएगा। महामारी के चलते छात्रों की परीक्षा कराए जाने पर संशय बना हुआ था।

लगातार अभिभावक और विपक्ष की तरफ से इस पर सही निर्णय लेने की बात कही जा रही थी। इसी क्रम में प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में एक बैठक दिल्ली में आयोजित हुई। जिसके बाद मंगलवार को सीबीएसई बोर्ड इंटरमीडिएट की परीक्षा कैंसिल करने का निर्णय लिया गया। इसी के साथ-साथ आईसीएसई बोर्ड में भी अपनी परीक्षाओं को रद्द करने का निर्णय लिया।

सपा सरकार में छात्रों का टीकाकरण पहले

समाजवादी पार्टी ने अपने ट्वीट में आगे की संभावनाओं का भी रास्ता खोल दिया। इसमें कहा गया कि सपा सरकार में पहले छात्रों का टीकाकरण किया जाएगा, इसके बाद ही कोई परीक्षा आयोजित होगी। दरअसल उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं। ऐसे में सपा सरकार आने वाले चुनाव को देखते हुए अपनी पकड़ और मजबूत करना चाह रही है।

उत्तराखंड: 29 मजदूरों के परिवारों को मिलेंगे 29-29 लाख रुपए, प्राकृतिक आपदा में हुए थे लापता

Previous article

यूपी: कोरोना कर्फ्यू से अब 64 जिले मुक्त, मात्र 11 जिलों में ही अब बंदिशें

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured