January 25, 2022 9:03 am
Breaking News यूपी

पोस्ट कोविड बीमारियों से बचाने में सहायक है होम्योपैथी

पोस्ट कोविड पोस्ट कोविड बीमारियों से बचाने में सहायक है होम्योपैथी

लखनऊ। कोरोना से संक्रमित रोगियों के कोरोना नेगटिव होने के बाद भी लगभग 30% से अधिक लोगों को पोस्ट कोरोना कॉम्प्लिकेशन के कारण अनेक गंभीर स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है जो रोगी के जीवन की गुणवत्ता को प्रभावित कर रहीं हैं। पोस्ट कोविड स्वास्थ्य समस्याओं के समाधान में होम्योपैथिक औषधियां महत्त्वपूर्ण भमिका निभा सकती हैं। यह जानकारी केंद्रीय होम्योपैथी परिषद के पूर्व सदस्य एवँ वरिष्ठ होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ अनुरूद्व वर्मा ने दी है।

उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण का असर शरीर के अनेक महत्त्वपूर्ण अंगों पर पड़ता है। यह प्रभाव हॉस्पिटल में भर्ती एवँ होम आइसोलेशन में उपचार करा रहे दोनों तरह के मरीजों पर दिखता है। उन्होंने बताया कि अस्पताल में भर्ती मरीजों को ऑक्सीजन देने एवं स्टेरॉयड के प्रयोग  कारण भी कुछ समस्याएँ दिखाई पड़ रही हैं।

WhatsApp Image 2021 05 23 at 6.02.26 PM पोस्ट कोविड बीमारियों से बचाने में सहायक है होम्योपैथी
केंद्रीय होम्योपैथी परिषद के पूर्व सदस्य व वरिष्ठ होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ अनुरूद्व वर्मा

उन्होंने बताया कि कोरोना नेगटिव होने के बाद लोगों में सांस लेने में परेशानी, खांसी, बलगम, सीने में दर्द, गले में खराश, हृदय सम्बन्धी परेशानियाँ, तंत्रिका तंत्र संबंधी दिक्कतें, मानसिक समस्याएँ, चिंता, तनाव, अनिद्रा, कमजोरी, थकान, एकाग्रता की कमी, याददाश्त का कमजोर होना, जोड़ों एवँ माँसपेशियों में दर्द, अवसाद, सिर दर्द, बुखार, दिल की धड़कन तेज होना, गंध एवँ स्वाद में कमी, चक्कर, हाथ पैरों में झनझनाहट, बालों का गिरना, पेट संबंधी परेशानियाँ हो सकती हैं जो जीवन की गुणवत्ता को प्रभावित करती है। यह समस्याएँ 3से 6 माह तक रह सकती हैं।

उन्होंने कोरोना से निगेटिव होने के बाद भी मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने, लगातार हाथ धोने, भीड़भाड़ में जाने से बचने, सुपाच्य हल्का, पौष्टिक भोजन करने, तरल पदार्थों को लेने, हल्का व्यायाम करने, सांस संबंधी एक्सरसाइज करने, विटामिन सी, मल्टी विटामिन, पर्याप्त नींद लेने, आराम करने, चिकित्सक द्वारा बताई गई दवाईओं का नियमित सेवन करने, रक्तचाप और मधुमेह को नियंत्रित रखने की सलाह दी है।

डॉ अनुरूद्ध ने कहा कि बाजार के भोजन, डिब्बाबंद भोजन, बाजार के पेय, कोल्ड ड्रिंक, आइस क्रीम, तम्बाकू, सिगरेट, शराब, तला भुना भोजन का प्रयोग बिल्कुल नहीं करना चाहिए। उन्होंने बताया कि होम्योपेथी मे कोरोना नेगटिव हुए रोगियों के पोस्ट कोविड स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं के समाधान के लिये अनेक प्रभावी दवाइयाँ उपलब्ध हैं जिसमे रोगी के पुराने, नये व्यक्तिगत लक्षणों को ध्यान में रखते हुये औषधियों का चयन किया जाता है परंतु यह औधाधियाँ केवल प्रशिक्षित चिकित्सक की सलाह से ही लेनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि रोगियों कोन लगातार अपने चिकित्सक के संपर्क में रहना चाहिए और उनकी सलाह एवँ दिशा निर्देशों का पूरी तरह पालन करना चाहिए। उन्होंने बताया कि मोबाइल नंबर 9415975558 पर निःशुल्क सलाह एवँ परामर्श प्राप्त किया जा सकता है।

Related posts

सिध्दार्थनगर में पुलिस ने छापा मारकर 10 लीटर कच्ची शराब को किया बरामद

Breaking News

अब सीट बेल्‍ट नहीं लगाएंगे तो स्‍टार्ट नहीं होगी कार, वाराणसी के युवा ने बनाया बेहतरीन डिवाइस   

Shailendra Singh

योगी सरकार के क्लस्टर मॉडल से ग्रामीण इलाकों में तेज हुई टीकाकरण की रफ्तार

Neetu Rajbhar