High Court inquiry fake appointment, teacher
High Court inquiry fake appointment, teacher

बागपत। बागपत में सृजन से अधिक शिक्षकों की फर्जी नियुक्ति दर्शाकर लाखों रुपये का गबन करने का मामला सामने आया है। जिससे सरकार को हर माह लाखों की चपत लगाई जा रही थी। मामले का खुलासा होने पर हाईकोर्ट ने शिक्षा विभाग को जांच के आदेश दे दिए हैं। दशक पूर्व बागपत जनपद के जनता इंटर कॉलेज लूंब में एलटी ग्रेड के सृजित 26 पदों के विपरीत 33 शिक्षक नियुक्त किए गए थे जिसके चलते एक विषय के लिए एक पद पर तीन शिक्षकों तक की नियुक्ति की गई।

High Court inquiry fake appointment, teacher

High Court inquiry fake appointment, teacher

बता दें कि इन ढाई दशकों में न जाने कितने अधिकारी आए और गए, लेकिन सृजित पदों से ज्यादा शिक्षकों को हर माह मोटा वेतन मिलता रहा। फिलहाल शिकायत के बाद हाईकोर्ट के आदेश पर माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने मेरठ मंडल के संयुक्त शिक्षा निदेशक को सृजित पदों से ज्यादा शिक्षकों की भर्ती करने के मामले की जांच सौंप दी है।

वहीं संयुक्त शिक्षा निदेशक ने डीआइओएस से शिक्षकों की नियुक्ति व वेतन भुगतान संबंधी नाम तलब किए हैं। जिससे निदेशक को रिपोर्ट भेजी जा सके। यदि मामला सही पाया जाता है तो विभागीय अधिकारियों के साथ-साथ विद्यालय प्रबंधन पर भी कार्रवाई तय है। डीआइओएस पीके मिश्रा ने बताया कि मामले के प्रकाश में आने के बाद प्रधानाचार्य से नियुक्ति संबंधी रिकॉर्ड मांगे गए हैं।

Rani Naqvi
Rani Naqvi is a Journalist and Working with www.bharatkhabar.com, She is dedicated to Digital Media and working for real journalism.

    पाक: जैनब का अपराधी गिरफ्तार, मासूम का रेप करने के बाद कर दी थी हत्या

    Previous article

    पद्मावत पर कमिश्नर दफ्तर में हिंदू समाज के लोगों ने किया हंगामा

    Next article

    You may also like

    Comments

    Comments are closed.

    More in देश