उत्तराखंड धर्म

हेमकुंड साहिब के कपाट आज खुलेंगे, पंच प्यारों को देखने पहुंचे हजारों लोग

hemkund sahib हेमकुंड साहिब के कपाट आज खुलेंगे, पंच प्यारों को देखने पहुंचे हजारों लोग

एजेंसी, जोशीमठ। हेमकुंड साहिब के कपाट शनिवार सुबह नौ बजे श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। शुक्रवार को सुबह आठ बजे गोविंदघाट से पंच प्यारों की अगुवाई में रवाना हुआ तीर्थयात्रियों का जत्था देर शाम घांघरिया पहुंचा। पहले जत्थे में करीब आठ हजार तीर्थयात्री शामिल हैं।
शुक्रवार को गोविंदघाट में सुखमणी पाठ के बाद पंच प्यारों की अगुवाई में हेमकुंड साहिब मैनेजमेंट ट्रस्टी जनक सिंह और गढ़वाल आयुक्त डा. बीवीआरसी पुरुषोत्तम ने जत्थे को घांघरिया के लिए रवाना किया। गोविंदघाट में तीर्थयात्रियों की दिनभर चहल-पहल बनी रही। यात्रा व्यवस्था की जानकारी लेने के लिए गढ़वाल आयुक्त डा. पुरुषोत्तम जिला प्रशासन की टीम के साथ हेमकुंड के लिए रवाना हुए हैं।
आयुक्त ने बताया कि इस वर्ष हेमकुंड साहिब में बर्फबारी अधिक हुई है। सेना ने यात्रा मार्ग खोल दिया है, जो भी कमी होगी, उसे एक सप्ताह के भीतर पूरा कर लिया जाएगा। हेमकुंड साहिब के प्रबंधक सेवा सिंह ने बताया कि करीब तीन किमी के यात्रा मार्ग में अधिक बर्फ है। यहां बर्फ को काटकर रास्ता बनाया गया है। गुरुद्वारे की ओर से सभी व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई हैं।
सेना की बैंड धुन के साथ रवाना हुए श्रद्धालुओं के जत्थे
सेना के जवानों की बैंड धुन से हेमकुंड साहिब यात्रा का श्रीगणेश हुआ। श्रद्धालुओं के जत्थे बैंड धुन के साथ घांघरिया के लिए रवाना हुए। गोविंदघाट से पुलना गांव तक चार किलोमीटर की दूरी वाहन से तय की जा सकती है, लेकिन अधिकांश उत्साही तीर्थयात्रियों ने शुरुआत से ही अपनी यात्रा पैदल ही शुरू की। यात्रा शुरू होने से गोविंदघाट में भी रौनक बढ़ गई है। सभी दुकानें सज गई हैं। -अमर उजाला

Related posts

जनता दरबार में सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सुनी जनता की फरियाद

piyush shukla

कपाट खुलने से पहले दुल्हन की तरह सजा बाबा बद्री विशाल का दरबार, जानिए बद्रीनाथ से जुड़े हुए खास रहस्य ..

Mamta Gautam

राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार पाने वाले सुमित को राज्यपाल ने किया सम्मानित

kumari ashu