उत्तराखंड

उत्तराखंड: बर्फबारी के चपेट में आने से 12 ट्रैकरों-पोर्टरों की मौत

बर्फबारी

उत्तराखंड से जैसे लगाता है मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा है। पहले उत्तराखंड में बारिश ने कहर मचाया था, तो बर्फबारी आफत बन कर सामने आई है। उत्तराखंड स्थित हिमालय क्षेत्र में भारी बर्फबारी हुई। इसकी चपेट में आने से 3 अलग-अलग घटनाओं में कुल 12 लोगों की मौत हुई है।

बागेश्वर में पिंडारी ग्लेशियर से ट्रेकिंग करने वाले 34 सदस्यीय समूह के 4 लोग बर्फबारी की चपेट में आने से मारे गए। हालांकि इस टीम के बाकी सभी सदस्य सुरक्षित बताए गए हैं। इसके साथ, उत्तरकाशी में हर्षिल और हिमाचल प्रदेश के बीच गायब हुए 11 ट्रैकर बर्फबारी की चपेट में आ गए थे, जिसमें से 5 लोगों के शव को बरामद कर लिया है।

बताया जा रहा है कि दिल्ली और बंगाल के ट्रैकरों का 11 सदस्यीय समूह 17 अक्टूबर से लापता था। दूसरी तरफ, आईटीबीपी पेट्रोलिंग पार्टी के साथ 17 अक्टूबर को गए 3 लापता पोर्टरों के शव बरामद किए जा चुके हैं। कुल मिलाकर हिमालयी बर्फबारी में अब तक 12 मौतों की खबर है।

गौरतलब है कि उत्तराखंड में 17 से 20 अक्टूबर तक लगातार मौसम खराब रहा। भारी बारिश के चलते प्रदेश भर में अब तक 54 लोगों की मौत हो चुकी हैं। सबसे अधिक तबाही प्रदेश के कुमाऊं रीजन में हुई। नैनीताल, चम्पावत, अल्मोड़ा में अब भी रेस्क्यू चल रहा है तो 4 धाम यात्रा ​दोबारा शुरू हो गई है, लेकिन बद्रीनाथ का रास्ता पूरी तरह खुलना बाकी है।

Related posts

हरीश रावत ने प्रधानमंत्री को पत्र लिख लोगों की समस्याओं से कराया अवगत

Rahul srivastava

उत्तराखंड में अनिल गोयल को बड़ी जिम्मेदारी, मिला राज्यमंत्री का दर्जा

Yashodhara Virodai

तकनीकी शिक्षा विभाग और EDUSKILL में समझौता, छात्रों के साथ-साथ प्रशिक्षक भी होंगे अपग्रेड

Shagun Kochhar