पूरा विश्व मना रहा हैं ट्यूबरकुलोसिस (टी.बी.)-जाने क्या हैं लक्षण

नई दिल्ली। आज पूरा विश्व ट्यूबरक्लोसिस या टी.बी. की रोकथाम को लेकर आज का दिन मना रहा हैं बता दे कि 24मार्च को पूरा विश्व ट्यूबरक्लोसिस डे के रुप में मनाते हैं। आज हम भी आपको इस विशेष दिन पर कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जिससे आप इस बीमारी से बच सकते हैं औऱ साथ ही इस बीमारी को लेकर आपकी जो गंभीर गलत धारणा बनी हुई हैं उसे सही कराएंगें।
यूं तो टी.बी. एक गंभीर बीमारी हैं। जो “मायकोबैक्टीरियम ट्यूबरक्लोसिस”नामक बैक्टीरिया की वजह से होती हैं और साथ ही यें संक्रमित करता हैं यानि कि यें लोगों को अपनी चपेट में हवा के काऱण लेता हैं पर लोगों के मन में लगत धारणा बनी हुई हैं।

कि साथ खाना खाने से गाथ लगाने से हाथ मिलाने से यें बीमारी हो जाती हैं पर ऐसा बिल्कुल नहीं हैं जिन लोगों को इस बारें में सहीं जानकारी नहीं होती हैं वो ऐसा सोचते हैं कि टी.बी वाले मरीज से दूर रहना चाहिए और उससे ऐसा व्यवहार करते हैं कि मानों उसने क्या कर दिया पर ऐसा नहीं हैं आपको उन लोगों से इस तरह का बर्ताव नहीं करना चाहिए क्योकि टी.बी किसी को भी ऐसा नहीं होता। आज हम आपको बताएंगें कि ऐसे कौन से कारण हैं जिससें टी.बी होता हैं।

टी.बी कितने प्रकार की होती हैं
टी.बी दो तरह की होती हैं। गुप्त टीबी संक्रमण और सक्रिय टीबी रोग।
जो लोग गुप्त टीबी से संक्रमित हो सकते हैं, बैक्‍टीरिया उनके शरीर में पहुंच जाते है लेकिन प्रतिरक्षा प्रणाली उन बैक्‍टीरिया को शरीर में फैलने से रोक देती हैं। लेकिन इस मामले में लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए क्‍योंकि परिस्थितियों में ये बीमारी बढ़कर संक्र‍मण का रुप ले सकती है।

आपको शुरुआती लक्षणों जैसे रात को पसीना आना, खांसी, थकान, अचानक वजन गिरना, फ्लू जैसे लक्षण दिखाई देना और बुखार आना। लेकिन हमेशा य‍ह बात ध्‍यान में रखनी चाहिए कि फेफड़ों में होने वाला टीबी दूसरे टीबी संक्रमण की तुनना में ज्‍यादा संक्रमित और खतरनाक होता हैं।

कैसे फैलता हैं
किस करने से- अगर आपके पार्टनर को टीबी हैं और अगर आप उसके साथ किस करते हैं तो आपको टीबी होने का पूरा पूरा चांस हैं। इसलिए आपको अगर टीबी से दूर रहना हैं तो अपने पार्टनर को या जिसको टीबी हैं उसे किस ना करें। पर ऐसा नहीं हैं कि अगर आप उनका हाथ पकड़ते हैं या साथ खाना खाते हैं तो आपको भी टीबी हो जाएगा ऐसा नहीं हैं
सैक्स से -आप जिस किसी के साथ भी शारिरिर संबध बनाते हैं तो इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि आपके पार्टनर को टीबी ना हो क्योकि अगर आप ऐसे मरीज के साथ संबध बनाते हैं तो आपको टीबी होने का पूरा पूरा चांस हैं

टीबी की इलाज
ट्यूबरक्लोसिस सामान्‍यता सही होने में 2 से 3 सप्‍ताह का समय लेता हैं। हालांकि कुछ लोगों को पूरी तरह सही होने में 3 से 4 सप्‍ताह भी लग सकता हैं। लेकिन दूसरी टीबी की तुलना में फेफड़ों के टीबी को सही होने में काफी समय लगता हैं साथ ही जननांग के टीबी को भी। बल्कि जब आप जननांग के टीबी का इलाज करवाते हैं तो तब भी संक्रमण का डर रहता है क्‍योंकि आप जब तक दवा ले रहे हैं, तब तक संक्रमण की चपेट में ही हैं। ये इसलिए क्‍योंकि अभी तक आप उस संक्रमण से बाहर नहीं निकल पाएं हैं। इस वजह से आपके पार्टनर को संक्रमित कर सकती हैं।