गर्मियों में इसलिए पीएं गन्नें का जूस-होगें फायदे

नई दिल्ली। गर्मियों में गन्नें का जूस पीना सभी को खूब अच्छा लगता हैं और हर कोई गर्मियों में गन्नें का जूस काफी चाव से पीता हैं। पर क्या आपको पता हैं कि गन्ने का जूस सिर्फ पाने में ही अच्छा नहीं लगता ब्लकि इसे पीने से शारीरिक बीमारियों से भी मुक्‍ती मिलती है। भारत में गन्‍ने की फसल सबसे ज्‍यादा होती है। इसे पीने से कई तरह की बीमारियां जैसे, एनीमिया, जौण्डिस, हिचकी आदि ठीक हो जाते हैं। अम्लपित्त, रोगों में गन्ने का ताजा रस काफी फायदेमंद है।

गन्‍ने में मिनरल, विटामिन और एंटीऑक्‍सीडेंट अधिक मात्रा में पाया जाता है।मौसम बदलने की वजह से लोंगो को बुखार हो जाता है, जिसमें गन्‍ने का सेवन करने से बुखार जल्दी उतर जाता है। वे लोग जो डायटिंग करते हैं वो भी गन्‍ने का जूस पी सकते हैं क्‍योंकि इसमें 0 प्रतिशत फैट होताहै। गन्‍ने का जूस प्राकृतिक मिठास लिये हुए होता है। अगर आप गन्ने का जूस पीते हैं तो आपको बताना चाहते हैं इससे आपको1 गिलास गन्‍ने के रस में आपको कम से कम 180 कैलोरीज़ मिलेंगी जो कि काफी कम मानी जाती है।

यदि आप सोचते हैं कि गन्‍ने का रस मीठा होता है इसलिये यह सर्दी, जुखाम में पीने के लिये खराब है तो आप गलत हैं। यह सर्दी जुखाम को पल भर में सही कर देता है। गर्मियों में गन्‍ने का ताजा रस निकाल कर उसमें नींबू और सेंधा नमक मिला कर पीने से लाभ भी मिलता है। तो आइये अब देखते हैं आपको गर्मियों में गन्‍ने का जूस क्‍यूं पीना चाहिये।

मुंहासे दूर

अगर आप गन्नें का जूस पीते है तो इससे आपके मुंहासे दूर होते हैं जी हां गन्‍ने को अगर नियमित पिया जाए तो मुंहासे ठीक होते हैं। आप चाहें तो इसका मास्‍क बना कर चेहरे पर लगा सकती हैं। इसके लिये आपको गन्‍ने के रस में मुल्‍तानी मिट्टी मिला कर पेस्‍ट बनाना होगा और उसे चेहरे तथा गर्दन पर लगाना होगा। इस मास्‍क को चेहरे पर 20 मिनट तक के लिये रखें। फिर इसे गीली तौलिये से साफ कर ले। ऐसा हफ्ते में एक दिन करें।

एनर्जी के लिए बेस्ट

गन्नें का रस एनर्जी के लिए बेस्ट होता हैं। गन्‍ने के रस से आपको तुरत ही एनर्जी महसूस होगी। य आपको ताजा रखने के साथ साथ खुश भी रखेगा।

पीलिया से मुक्ति

अगर आप रोज गन्ने का जूस पीते हैं तो आप देखेगें कि गन्नें का रस पीलिया भी ठीक हो जाता हैं। पीलिया ठीक करने के लिये रोज दो गिलास गन्‍ने के रस में नींबू और नमक मिला कर पीना चाहिये। अगर गन्‍ने का मौसम नहीं है तो चीनी के शर्बत में नींबू डाल कर पिलाएं

मधुमेह

यदि आप डायबिटीज के शिकार हैं तो गन्‍ने का जूस पी सकते हैं क्‍योंकि यह ब्‍लड ग्‍लूकोज लेवल को बैलेंस कर के रखता है। इसमें बिल्‍कुल भी हानिकारक मिठास नहीं होती। कैंसर
अल्‍कलाइन प्रकृति होने की वजह से यह कैंसर से सुरक्षा प्रदान करता है। विशेष रूप से प्रोस्‍ट्रेट, पेट, फेफड़े और स्तन कैंसर।

उल्‍टी रोके

अगर आपको गर्मी के कारण काफी उल्‍टी हो रही है तो 1 गिलास गन्‍ने का रस पिएं। इसमें आप 2 चम्‍मच शहद मिला सकते हैं। इससे रोगी को आराम मिलेगा और गन्‍ने के रस को ठंडा पीने से उल्‍टी बंद हो जाएगी।

पेशाब में जलन

पेशाब करने में जलन महसूस हो तो गन्‍ने के रस को पीने से पेशाब खुल कर होती है। साथ ही मूत्र संबन्‍धी समस्‍या भी दूर होती है।

वजन नियंत्रित करे

यह मीठा होने के बावजूद भी फैट लेस होता है। यह हमारे शरीर से खराब कोलेस्‍ट्रॉल को कम करता है जो कि वजन बढने का मुख्‍य कारण है। यह घुलनशील फाइबर से भरा है जो कि वजन कम करने में मदद करता है। तो अगर आप भी गर्मियों में गन्नें का जूस पीते हैं तो यें आपके स्वाद के साथ साथ आपकी स्वास्थ को भी काफी अच्छा रखता हैं।