HDFC बैंक ने नियमों का अनुपालन नहीं करने को लेकर ग्राहकों को ई-मेल और व्हॉट्सएप के जरिए नोटिस भेजे

नई दिल्ली। HDFC बैंक ने नियमों का अनुपालन नहीं करने को लेकर ग्राहकों को ई-मेल और व्हॉट्सएप के जरिए नोटिस भेजे हैं। बैंक को उम्मीद है कि संचार के नए तरीके अपनाने से मामलों का तेजी से निपटान हो पाएगा। बैंक के एक अधिकारी ने कहा कि एचडीएफसी बैंक विभिन्न अदालतों में इस बात पर जोर दे रहा है कि ई-मेल और व्हॉट्सएप जैसे संचार के डिजिटल माध्यमों के जरिये नोटिस और समन भेजे जाने चाहिए। अधिकारी ने कहा कि 60 लाख से अधिक चेक बाउंस के मामले देश में लंबित हैं और एचडीएफसी बैंक समन भेजने को लेकर डिजिटल साधनों के उपयोग को लेकर अदालतों से अनुरोध कर रहा है।

ई-मेल और व्हॉट्सएप पर नोटिस भेजे

बता दें कि उसने कहा कि हम ई-मेल और व्हॉट्सएप पर नोटिस भेजते रहे हैं। कई मामलों में हमने देखा है कि डाक से भेजे जाने पर ग्राहक नोटिस प्राप्त होने से साफ इनकार कर देते हैं। अधिकारी ने कहा कि ‘‘अक्सर देखा गया है कि लोग घर जल्दी जल्दी बदल लेते हैं लेकिन उनका ई- मेल पता और मोबाइल नंबर सामान्य तौर पर नहीं बदलता है। इसलिए हमारा मानना है कि संचार के ये नए तरीके प्रभावी हैं।

बता दें कि अधिकारी ने कहा कि एचडीएफसी बैंक ने अब तक डिजिटल माध्यमों से करीब 250 समन भेजे हैं और उम्मीद है कि कानून के तहत इन मामलों का निपटान तेजी से हो पाएगा। अब तक डिजिटल तरीके से जो नोटिस भेजे गये हैं, वे ज्यादा मामले महाराष्ट्र, गुजरात, पश्चिम बंगाल, ओड़िशा, तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश से जुड़े हैं।

वहीं कुछ मामले दिल्ली, चंडीगढ़, राजस्थान और जम्मू कश्मीर से संबद्ध हैं। चेक बाउंस के मामले परक्राम्य लिखत अधिनियम की धारा 138 के तहत आते हैं जिसमें प्रामिसरी नोट्स, एक्सचेंज बिल और चेकों से संबंधित मामलों को परिभाषित किया गया है और संबंधित कानून में संशोधन किया गया।