उत्तर प्रदेशः हरदोई जिला में विद्युत विभाग की हो रही किरकिरी, कर्मचारी रहते हैं नशे में धुत्त

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिला में  विद्युत विभाग के कर्मचारियों की लापरवाई से विद्युत व्यवस्था तहस-नहस है। स्थानीय लोगों को विद्युत कटौती से भारी परेशाीनी हो रही है।स्थानीय लोगों का आरोप है कि  कर्मचारी शराब पीकर नशे में होने के बाद विद्युत सप्लाई पर ध्यान नही देते हैं। कई बार इस विद्युत कटौती को लेकर कर्मचारियो को आगाह किया गया लेकिन उनके कान में जूं तक नही रेंगती और जानबूझकर वो इस तरह की अनसुनी करते है।

 

विद्युत विभाग में शराब पार्टी के बाद का दृश्य

योगी सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों  को  18 घंटे  बिजली देने का वादा किया था

विद्युत विभाग की गैर जिम्मेदाराना हरकत की बजह से राज्य की योगी सरकार पर भी सवाल खड़े होने लगे हैं। गौरतलब हैं कि राज्य में योगी आदित्यनाथ  के नेतृत्व वाली बीजेपी की सरकार  पर अब लोगों का गुस्सा जाहिर हो रहा है। बता दे कि योगी  सरकार के कई मंत्री  और स्वयं प्रदेश के मुखिया विद्युत सप्लाई को लेकर बड़े-बड़े वादे किए हैं। मालूम हो कि योगी सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों  को  18 घंटे  बिजली देने का वादा किया था।लेकिन जो पूरी तरह झूठ साबित हुआ।

योगी सरकार में नहीं हो रही शराबी  कर्मचारियों पर कार्यवाही

गौरतलब है कि हरदोई जिले में विद्युत व्यवस्था  पूरी तरह  हुई फ्लॉप हो चुकी है। शराब के नशे में रहते हैं विद्युत कर्मचारी, रात के वक्त  शराब बियर और मीट की पार्टी करते हैं। और अपनी ड्यूटी को भूलकर बिजली कटौती करते हैं।

यूपी कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने किया अखिलेश यादव के बयान पर पलटवार,

18 घंटे का वादा हुआ फ्लाप महज मिल रही 6 घंटे बिजली

अगर इसकी शिकायत अधिकारियों को करते हैं तो वह अनजान बनते है।जबकि उनकी ही मिलीभगत से ये लापरवाई को अंजाम दिया जा रहा है। शराब के नशे में होने पर विद्युत व्यवस्था फेल  होती  है। ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घंटे का वादा हुआ फ्लाप महज मिल रही 6 घंटे बिजली

कछौना पावर हाउस बना मयखाना

हरदोई का कछौना पावर हाउस पूरी तरह मयखाने में तब्दील हो चुका है। आए दिन चलती दारू और शराब की पार्टी, कछौना के ग्रामीणों ने पावर हाउस को घेरकर पुलिस से कर्रवाई की मांग की है।

महेश कुमार यदुवंशी