featured Breaking News देश

हाफिज ने फिर उगला जहर, कहा पाक आर्मी सेना प्रमुख कश्मीर में भेजें सैनिक

Hafiz Said हाफिज ने फिर उगला जहर, कहा पाक आर्मी सेना प्रमुख कश्मीर में भेजें सैनिक

करांची। जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद ने एक बार फिर भारत के खि‍लाफ जहर उगला है। कराची में डिफेंस काउंसिल की मीटिंग में मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड ने पाकिस्तानी आर्मी चीफ से कहा कि वो कश्मीर में न सिर्फ सेना भेजें, बल्कि मोहम्मद अली जिन्ना के लंबित आदेश का पालन करें।

Hafiz Said

भारत के खि‍लाफ फिर से वही पुराना राग अलापते हुए आतंकी संगठन लश्कर के प्रमुख ने सेना प्रमुख जनरल राहिल शरीफ से कहा कि पाकिस्तान के संस्थापक जिन्ना के लंबित आदेश का पालन करें और कश्मीर में सैनिक भेजें।

बंटवारे के वक्त पाकिस्तान में रहना चाहते थे सभी कश्मीरी:-

रविवार को डिफेंस काउंसिल ऑफ पाकिस्तान के बैनर तले एक रैली को संबोधित करते हुए सईद ने दावा किया विभाजन के समय सभी कश्मीरी लोग पाकिस्तान के साथ रहना चाहते थे लेकिन विभाजन के बाद भारत ने जबरन जम्मू कश्मीर में सेना भेज दी।

– लश्कर प्रमुख ने कहा कि कश्मीरियों ने विभाजन से पहले घोषणा की थी कि वे पाकिस्तान के साथ रहना चाहते हैं।

– लेकिन विभाजन के बाद भारत ने जबरन जम्मू-कश्मीर में सेना भेज दी।

– इस पर कायदे आजम मोहम्मद अली जिन्ना ने कमांडर इन चीफ को सैनिक भेजकर जवाब देने का आदेश दिया था, लेकिन उन्होंने आदेश मानने से इनकार कर दिया।

भारत के साथ रणनीति जरुरी, लड़ाई नहीं:-

– लश्कर प्रमुख हाफिज सईद ने कहा, अब मैं जनरल राहिल शरीफ से जम्मू-कश्मीर में सैनिक भेजने की अपील करता हूं, क्योंकि कायदे आजम का वो आदेश लंबित है।

– सईद ने कहा कि वह भारत के साथ लड़ाई करने को नहीं कह रहा है, लेकिन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और राहिल शरीफ को कश्मीर मुद्दे पर निश्चय ही रणनीति बनानी चाहिए।

पाक युद्ध क्षेत्र बन गया है, मोदी को जवाब देना जरुरी:-

– हाफिज सईद ने नवाब शरीफ को हिदायत देते हुए कहा कि पाकिस्तान युद्धक्षेत्र बन गया है और निर्दोष कश्मीरी मारे जा रहे हैं।

– नरेंद्र मोदी बलूचिस्तान को अलग करने की बात कर रहे हैं, हमारे प्रधानमंत्री चुप क्यों हैं और वह उसी शैली में मोदी को जवाब देने में अनिच्छुक क्यों हैं?

– हाफिज ने कहा कि शरीफ को चकोठी तक राहत सामग्री भेजनी चाहिए ताकि कश्मीरियों को यकीन हो कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री उनके साथ हैं।

Related posts

युवा प्रतिभा सम्मान: कठिन परिश्रम करने वालों की कभी हार नही होती- सोमेन्द्र तोमर

bharatkhabar

आज से शुरू होगा संसद का शीतकालीन सत्र, कृषि कानून की वापसी के लिए केंद्र सरकार पेश करेगी बिल

Neetu Rajbhar

Aaj Ka Panchang: 20 अगस्त 2022 का पंचांग, जानें आज का पक्ष और राहुकाल

Nitin Gupta