featured यूपी राज्य

उत्तर प्रदेश के औरेया में दो ट्रकों के भिड़ने से हदसा, 24 मजदूरों की मौत

auraiya4 1 6104444 835x547 m उत्तर प्रदेश के औरेया में दो ट्रकों के भिड़ने से हदसा, 24 मजदूरों की मौत

उत्तर प्रदेश के औरेया में प्रवासी मजदूर एक हादसे का शिकार हो गए, जानकारी के मुताबिक इस हादसे में 24 मजदूरों की मौत हो गई। ट्रक में सवार होकर ये मजदूर हरियाणा

औरेया: उत्तर प्रदेश के औरेया में प्रवासी मजदूर एक हादसे का शिकार हो गए, जानकारी के मुताबिक इस हादसे में 24 मजदूरों की मौत हो गई। ट्रक में सवार होकर ये मजदूर हरियाणा और राजस्थान से अपने गांवों की तरफ पलायन कर रहे थे। ज्यादातर मजदूर पश्चिम बंगाल, झारखंड और बिहार के बताए जा रहे हैं। कई मजदूर गंभीर रुप से घायल हो गए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार के अधिकारियों ने बताया कि दो ट्रकों में भिड़ंत की वजह से यह दर्दनाक हादसा हुआ। फरीदाबाद दिल्ली से आने वाले सैकड़ों मजदूर इसी रास्ते से होकर अपने-अपने घरों को जा रहे थे।

जानकारी के मुताबिक सुबह करीब 3.30 बजे दो ट्रकों में आपस में भिड़ंत हो गई जिसमें करीब 50 मजदूर ट्राला पलटने से हताहत हुए। घायलों को औरैया जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जबकि 15 अन्य लोगों की हालत नाजुक होने के कारण सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी रिफर कर दिया गया। बताया जा रहा है कि नेशनल हाईवे पर एक ढाबे के पास खड़ी डीसीएम में टकराने से ट्राला अनियंत्रित हो गया, इस ट्राले में आंटे की बोरी लदी हुई थी और श्रमिक इन बोरियों के ऊपर बैठे हुए थे। हादसे में ज्यादातर श्रमिक इन बोरियों में दब गए जब तक उन्हें निकाला गया इनमें से कई ने दम तोड़ दिया था।

https://www.bharatkhabar.com/order-to-recover-loans-from-farmers-on-cooperative-banks-of-uttar-pradesh/

श्रामिकों ने जिला अस्पताल पहुंचते पहुंचते ही दम तोड़ दिया

कुछ श्रामिकों ने जिला अस्पताल पहुंचते पहुंचते ही दम तोड़ दिया। जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने बताया है कि राजस्थान के नंबर वाले ट्राले पर सवार ज्यादातर लोग झारखंड, बिहार, पश्चिम बंगाल और कुछ यूपी के रहने वाले थे। वहीं इस घटना पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी संज्ञान लिया है। उन्होंने इस घटना में मृतकों के प्रति अपनी संवेदना जाहिर करते हुए घायलों के तुरंत उपचार के निर्देश दिए हैं। सीएम योगी ने आईजी कानपुर से पूरी घटना पर एक रिपोर्ट भी मांगी है।

कोरोना वायरस की वजह से लागू लॉकडाउन के बाद बड़े पैमाने पर प्रवासी मजदूर अपने घरों की तरफ लौट रहे हैं। ट्रेन और बसों की व्यवस्था बंद होने के कारण ये प्रवासी हाइवे पर पैदल, साइकिल, रिक्शा या फिर ट्रकों की मदद से अपने गांवों तक पहुंच रहे हैं लेकिन इससे होने वाले हादसों में बढ़ोतरी हो गई है। पिछले कुछ दिनों में कई प्रवासी मजदूर इन्हीं हादसों के शिकार हो चुके हैं।

Related posts

भारतीय रेलवे ने पेश की मिसाल, महज 7 घंटे में पुराना पुल तोड़कर तैयार किया नया पुल

Breaking News

नोटबंदी के खिलाफ कांग्रेस करेगी रिजर्व बैंक का घेराव

kumari ashu

झारखंड में नक्सलियों ने किया अटैक, चार पुलिसकर्मी शहीद

Trinath Mishra