Breaking News featured खेल

83 साल बाद गुजरात ने रचा इतिहास, जीती रणजी ट्रॉफी

parthiv patel new 83 साल बाद गुजरात ने रचा इतिहास, जीती रणजी ट्रॉफी

इंदौर। 83 साल बाद गुजरात ने 41 साल की चैंपियन मुंबई को पहली बार हराकर रणजी ट्रॉफी अपने नाम कर ली है। इस मैच को जीतने के लिए चौथी पारी में 312 रनों की जरुरत थी जिसे आज गुजरात रणजी मैच के कप्तान पार्थिव पटेल ने 143 रन की शानदार पारी खेली और पांच विकेट खोकर ऐतिहासिक जीत हासिल की। ये अब तक का सबसे बड़ा लक्ष्य था। इससे पहले 1937 में हैदराबाद और नवानगर के बीच खेले गए फाइनल में हैदराबाद ने 310 रन का पीछा करते हुए ट्रॉफी पर अपना कब्जा जमाया था।

parthiv patel new 83 साल बाद गुजरात ने रचा इतिहास, जीती रणजी ट्रॉफी

रणजी मैच में पार्थिव का मुंबई के खिलाफ ये 5वां शतक था और जीत के बाद उन्हें मैन ऑफ द मैच भी दिया गया। रुजुल भट्ट ने 26, चिराग गांधी नाबाद 11 रन बनाए जबकि मुंबई की ओर से बलविंदर ने संधु ने सबसे अधिक 2 विकेट झटके।

89 रन पर 3 विकेट गिर जाने से ऐसा लग रहा था कि गेम मुंबई के पक्ष में है लेकिन पार्थिव ने अपनी शानदार पारी के साथ इस मैच का रुख ही पूरा पलट दिया। पार्थिव ने मनप्रीत के बीच 116 रनों की अहम साझेदारी रही। मनप्रीत ने 54 रन बनाए और उनके आउट होने के बाद उनका साथ रिजुल भट्ट ने दिया। यानि कि दोनों ने मिलकर 94 रन जोड़े। मुंबई की पहली पारी 228 रनों पर सिमटी और गुजरात के पार्थिव ने 90 और मनप्रीत ने 77 रनों की पारी से अपनी पहली पारी में 328 रन बनाते हुए 100 रनों की बढ़त हासिल की। इसके बाद मुंबई ने अपनी दूसरी पारी में 411 रन बनाते हुए गुजरात के सामने 312 रनों का लक्ष्य रखा था जिस पर चिराग गांधी के जबरदस्त शॉट के बाद गुजरात टीम को जीत मिली।

इसी जीत के बाद गुजरात रणजी टीम के कप्तान पार्थिव पटेल ने ट्विटर पर एक पोस्ट साझा करते हुए सभी को धन्यवाद दिया। उन्होंने लिखा, हम लोगों के लिए बेहतरीन पल है। आप सभी की शुभकामनाओं के लिए शुक्रिया।

 

Related posts

उत्तरी-पश्चिमी दिल्ली के किराड़ी में घर में लगी आग, कोई हताहत नहीं

Neetu Rajbhar

राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता शंकर चरण त्रिपाठी को राहुल की आलोचना पड़ी मंहगी,पार्टी से किए गए निष्कासित

rituraj

एक्टर सतीश कौशिक का निधन : पूरी हुई पोस्टामार्टम की प्रकिया, मुंबई लाया जाएगा पार्थिव शरीर

Rahul