रामनगरी में बनेंगे कई देशों के अतिथि गृह, जानिए क्या है पूरी योजना

अयोध्या: रामनगरी में मंदिर निर्माण के साथ साथ अन्य कई विकास कार्य प्रस्तावित हैं। इंटरनेशनल एयरपोर्ट के अलावा अब विदेशी अतिथि गृह बनाये जाने की भी तैयारी की जा रही है।

यह भी पढ़ें: जानिए क्यों मनाया जाता है माघी पूर्णिमा का स्नान पर्व

इन देशों के लिए होगी सुविधा

भगवान राम और अयोध्या से सांस्कृतिक रूप से जुड़े हुए सभी देशों के लिए रामनगरी में अतिथि गृह बनेगा। इस सूची में नेपाल, श्रीलंका जैसे पड़ोसी देश तो शामिल ही हैं, इसके अतिरिक्त अन्य कई देश भी हैं। जिनमें सूरीनाम, कनाडा, केन्या, इंडोनेशिया, मलेशिया, थाइलैंड, ट्रिनीडॉड एंड टोबैगो, मॉरीशस जैसे देश शामिल होंगे।

रामनगरी में बनेंगे कई देशों के अतिथि गृह, जानिए क्या है पूरी योजना

थाइलैंड जैसे देश में रामायण वहां की प्रमुख किताब है। इसे ‘ग्लोरी ऑफ रामा’ के नाम से जाना जाता है। सांस्कृतिक विरासत के अतिरिक्त प्रवासी भारतियों का श्रीराम के प्रति लगाव भी इसमें शामिल किया गया है। सभी देशी-विदेशी राम भक्तों के लिए यहां आना भी काफी सुविधाजनक बनाया जा रहा है।

विकास कार्यों को लेकर बैठक जारी

प्रशासन और मंदिर ट्रस्ट से जुड़े लोग लगातार बैठकों के माध्यम से विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे हैं। मंदिर निर्माण का कार्य तेजी से पूरा करना सबकी प्राथमिकता में है। इसके साथ ही अयोध्या को बड़ी सांस्कृतिक नगरी के रूप में विकसित किया जाना है।

जल्द शुरु होगी नींव भराई

मंदिर निर्माण के लिए नींव की खुदाई का काम चल रहा है। यह काम अभी लगभग 60 प्रतिशत पूरा हो पाया है, शेष कार्य भी जल्द पूर्ण कर लिया जायेगा। इसके बाद नींव भराई का काम शुरु करके आगे का काम जारी हो जायेगा। इस निर्माण के लिए केंद्र सरकार भी पूरी मदद कर रही है, आम जनता भी चंदा के माध्यम से मंदिर निर्माण में अपना योगदान दे रही है।

कोरोना संकट: तीसरे दिन 16 हजार से ज्यादा केस, करीब डेढ़ करोड़ को लगा वैक्सीन

Previous article

कोरोना पर केंद्र सरकार सख्त, 31 मार्च तक बढ़ाई गाइडलाइन, राज्यों को सावधानी बरतने के दिए निर्देश

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured