Breaking News यूपी

जिले भर के सरकारी हैंडपंप पर दबंगों का कब्जा, चल रही मनमानी

जिले भर के सरकारी हैंडपंप पर दबंगों का कब्जा, चल रही मनमानी

फतेहपुर: जिले में ग्राम पंचायत सचिव की घोर लापरवाही देखने को मिल रही है। दरअसल जहाँ पर सरकारी हैंडपंप लगवाए गए थे, उनमें अधिकतर पर दबंगों ने कब्जा कर लिया है। पंचायत सचिव कभी फील्ड में निकल नहीं रहे, इसीलिए पूरी जानकारी उनको भी नहीं है। सभी अपनी जिम्मेदारी से दूर भागते दिखाई दे रहे हैं। आलम यह है कि पहले हैंडपंप लगवाया गया और फिर उसमें दबंगों द्वारा सबमर्सिबल लगा लिया गया।

ग्रामीण क्षेत्रों में बहुतायत संख्या में सरकारी हैंडपंप लगवाए गए हैं। जिससे आसपास के लोगों को पानी मिलने में सहजता और सरलता बनीं रहे। जब इन हैंडपंपों को लगया जाना था, तब इसे दबंगों द्वारा मनमाफिक जगहों पर बोर करवा लिया गया। फिर इसके कुछ ही दिन बाद उसमें सबमर्सिबल सेट करवा दिया। जहाँ से पानी निकलता है, वहां पर लोहे की टोटीनुमा उपकरण लगाते हुए उसे सेट कर दिया। फिर इसमें रबड़ का पाइप लगाकर अपने घर के अंदर कर लिया।

अब इसके बाद सार्वजनिक क्षेत्र में लगा हैंडपंप एक व्यक्ति अकेला इस्तेमाल कर रहा है। सबसे बड़ी बात है कि यह समस्या पूरे जिले की है, लेकिन सचिव ने कहीं भी अपनी जिम्मेदारी का सही से निर्वहन नहीं किया। बात चाहे हस्वा विकास खंड के छिछनी गांव की हो या रमवां-पंथुआ या फिर बंधवा गांव हो। इन सभी जगहों पर सरकारी हैंडपंपों पर दबंगों ने मनमानी मचा रखी है। अब इनसे स्थानीय लोग कुछ कहते हैं तो ये बाहुबल पर उतर आते हैं। ऐसे में आसपास के लोग कुछ कहने से बचते हैं।

घर बनवाने के लिए साधन बने सरकारी पंप

कई स्थानों पर सरकारी हैंडपंप को स्पेशली घर बनवाने के लिए उन्हें निजी सबमर्सिबल में सेट कर दिया गया है। भवन निर्माण के समय जितनी पानी की आवश्यकता होती है उसे वह निकालते रहते हैं। कई बार तो इसे चला कर छोड़ दिया जाता है। ऐसे में भारी मात्रा में पीने योग्य पानी बर्बाद होता रहता है।

Related posts

निजी अस्पताल ने बिना कोविड जांच कराए लगा दिया रेमडिसिविर इंजेक्शन, युवक की मौत

sushil kumar

सीएम त्रिवेंद्र रावत ने दिये आदेश, अब सामान्य वर्ग के छात्रों को भी मिलेगा नि:शुल्क ड्रेस

Trinath Mishra

किसानों के प्रोटेस्ट से बवाल, कहीं आंसू गैस के गोले तो कहीं पानी की बौछार

Hemant Jaiman