CM photo 08 dt.21 March 2018 सरकार का लक्ष्य 2024 तक प्रदेश को रोग मुक्त करना: सीएम
गैरसैंण। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गैरसैंण विधानसभा में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत इलैक्ट्निक वैक्सीन इंटैलीजेंस नेटवर्क, मीजिल्स रूबैला टीकाकरण, आरएनटीसीपी और कायाक्लप पुरस्कार वितरण समारोह 2017-18 में शिरकत की। इस दौरान सीएम ने कहा कि मीजल्स और रूबैला के टीकाकरण में स्वास्थ्य विभाग के साथ शिक्षा और आईसीडीएस विभागों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।  प्रदेश में 28 लाख बच्चों के मीजल्स और रूबेला टीकाकरण के निर्धारित लक्ष्य को सम्बन्धित विभागों द्वारा समय से पूरा किया गया। उन्होंने कहा कि प्रदेश को 2024 तक क्षय रोग से मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया है।
सीएम ने प्रदेश के सभी 13 जिलों के क्षय रोग निदान हेतु कार्य करने वालों को टेबलेट वितरण किया। उन्होंने कहा कि किसी भी लक्ष्य को प्रदान करने के लिए विभागों में आपसी समन्वय होना जरूरी है। विभागों के समन्वय के कारण ही मीजल्स एवं रूबेला के टीकाकरण में प्रदेश में निर्धारित लक्ष्य से अधिक टीकाकरण हुआ। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने क्षय रोग मुक्ति के लिए शपथ भी दिलाई। मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र ने इलैक्ट्राॅनिक वैक्सीन इंटैलीजेंस नेटवर्क को भी मोबाईल एप से लाॅच किया। ई.वी.आई.एन. का उदेश्य राज्य में सभी कोल्ड चेन प्वांइंट्स पर वैक्सीन के भण्डारण और प्रभाव और भंडारण के तापमान के बारे में तात्कालिक सूचना देकर भारत सरकार के नियमित टीकारण के कार्यक्रम को सहयोग देना है।
CM photo 08 dt.21 March 2018 सरकार का लक्ष्य 2024 तक प्रदेश को रोग मुक्त करना: सीएम
 मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने उत्कृष्ट कार्य करने वाले प्रदेश के जिला चिकित्सालयों, उप जिला चिकित्सालयों एवं प्रत्येक जिले में श्रेष्ठ कार्य करने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को पुरस्कृत किया एवं प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किए, जिसमें कायाकल्प पुरस्कार के तहत श्रेणी ’ए’ में प्रथम पुरस्कार प्राप्त करने वाले जवाहर लाल नेहरू, जिला चिकित्सालय ऊधमसिंह नगर को 50 लाख रूपये की धनराशि प्रदान की गई। जबकि 06 जिला चिकित्सालयों चेनराय जिला महिला चिकित्सालय हरिद्वार, बी.डी.पाण्डेय जिला पुरूष चिकित्सालय नैनीताल, जिला चिकित्सालय गोपेश्वर, चमोली, बी.डी.पाण्डेय जिला महिला चिकित्सालय नैनीताल, जिला चिकित्सालय रूद्रप्रयाग और जिला महिला चिकित्सालय उत्तरकाशी को सांत्वना पुरस्कार के रूप में 03-03 लाख रूपये की धनराशि प्रदान की गई।
श्रेणी ’बी’ में प्रथम पुरस्कार प्राप्त करने वाले उप जिला चिकित्सालय नरेन्द्रनगर, टिहरी गढ़वाल को 15 लाख रूपये, द्वितीय पुरस्कार प्राप्त करने वाले उप जिला चिकित्सालय कोरोनेशन, देहरादून को 10 लाख रूपये एवं सांत्वना पुरस्कार प्राप्त करने वाले संयुक्त चिकित्सालय प्रेमनगर, देहरादून एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र डोईवाला, देहरादून को 01-01 लाख रूपये की धनराशि प्रदान की गई। श्रेणी ’सी’ के अन्तर्गत जनपद में प्रथम पुरस्कार प्राप्त करने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को 02-02 लाख रूपये एवं सांत्वना पुरस्कार प्राप्त करने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को 50-50 हजार रूपये की धनराशि प्रदान की गई।

पलानीसामी ने अटकलों पर लगाया विराम, बीजेपी के साथ नहीं करेंगे गठबंधन

Previous article

डेटा चोरा होने पर मार्क जुकरबर्ग ने मानी गलती, बोले- विश्वास में सेंध लगने जैसा

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.