गोरखपुर का चिड़ियाघर तैयार, अब सुनिए बब्बर शेर की दहाड़

गोरखपुर: मजबूत ढांचागत सुविधाएं, खेती किसानी, स्वास्थ्य, उद्योग, रोजगार, पर्यटन समेत विकास के पैमाने पर हर क्षेत्र में चमक बिखेर रहे गोरखपुर को मार्च के पहले सप्ताह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हाथों चिड़ियाघर की सौगात मिलने की पूरी उम्मीद है।

यह भी पढ़ें: वृंदावन कुंभ: पहले शाही स्नान पर आस्‍था की डुबकी, संतों की पेशवाई ने मोहा मन

इस चिड़ियाघर का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है और यहां जानवरों को लाने का क्रम सिलसिलेवार जारी है। चीता, तेंदुआ, दरियाई घोड़ा, हिरण, सियार, अजगर जैसे वन्य जीव आ चुके हैं और रविवार से यहां बब्बर शेर की दहाड़ भी गूंजने लगेगी। जिले में अमर शहीद अशफाक उल्ला खां के नाम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा बनवाया गया प्राणी उद्यान (चिड़ियाघर) पूर्वी देश का सर्वाधिक खूबसूरत चिड़ियाघर है।

तेजी से चल रहीं हैं लोकार्पण की तैयारियां

चिड़ियाघर पूर्वांचल के पर्यटन विकास के लिए मिल का पत्थर साबित होगा। इन दिनों इसके लोकार्पण की तैयारियां जोर शोर से चल रही हैं। गत दिनों गोरखपुर की गंगा कही जाने वाली राप्ती नदी के तट पर आधुनिक सुविधाओं से युक्त तीन पक्के घाटों के लोकार्पण अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मार्च के पहले सप्ताह में चिड़ियाघर के उद्घाटन की बात कही थी, जिसके बाद जानवरों को लाने का कार्य और तेज कर दिया गया।

खासियतों ने बनाया नायाब, ओडीओपी शोकेस भी

260 करोड़ रुपये की लागत से बने गोरखपुर के चिड़ियाघर में कई खासियतें इसे नायाब दर्जा देने वाली हैं। ज़ू में रखे जाने वाले जानवरों के अलावा यहां इंडोर बटरफ्लाई पार्क में विविध प्रजाति की तितलियों की बहुरंगी छटा देखने को मिलेगी तो सरपेंटेरियम में दुलर्भ प्रजाति के सांप दिखेंगे। आने वाले दिनों में यहां इजराइल के जेब्रा भी देखने को मिलेंगे। परिसर में ही 40 सीटर 7 डी थिएटर बनाया गया है और पीपीपी मॉडल पर टॉय ट्रेन चलाने की प्रक्रिया भी गतिमान है। बुजुर्गों के लिए बैटरी चालित गोल्फ कार भी चलाई जाएगी। और हां, 30 एकड़ के विशाल वेटलैंड वाला यह पहला चिड़ियाघर है जहां 60 से अधिक स्थानीय और प्रवासी पक्षियों का दीदार किया जा सकेगा। सीएम सिटी में चिड़ियाघर का प्रवेश द्वार आपको एक जिला एक उत्पाद यानी ओडीओपी के उत्पादों से भी लुभाएगा। इसके लिए ओडीओपी शोकेस बनाया गया है।

आज पहुंचेंगे दो बब्बर शेर

गिर वन्यजीव अभयारण्य गुजरात से लाए गए एवं इटावा स्थित लायन सफारी पार्क में पले बढ़े बब्बर शेर पटौदी और मरियम सीएम सिटी के चिड़ियाघर में रविवार तक पहुंचेंगे। शुक्रवार की शाम इन दोनों बब्बर शेर को पिजड़े में ले लिया गया। अब तक इस चिड़ियाघर में  52 वन्य जीव लाए जा चुके हैं। जू के सबसे बड़े आकर्षण गुजरात के बब्बर शेर का जोड़ा रविवार की सुबह तक गोरखपुर पहुंचने की उम्मीद में प्राणी उद्यान के निदेशक एच राजा मोहन की अगुवाई में कर्मी बाड़ों को तैयार करने में जुटे हैं। उधर इन दोनों बब्बर शेरों को लेकर कड़ी सुरक्षा के बीच पशु चिकित्सक एवं वालइल्ड लाइफ एक्सपर्ट डॉ आरके सिंह, इटावा सफारी पार्क के डाक्टर और कीपरो की टीम शनिवार की दोपहर गोरखपुर के लिए निकल पड़ी है।

पयर्टन के मानचित्र पर चमकेगा गोरखपुर

गोरखपुर अब देश के पर्यटन मानचित्र पर चमकने को तैयार है। चिड़ियाघर की इसमे बड़ी भूमिका होगी। कायाकल्प के बाद निखर उठे रामगढ़ ताल में सी-प्लेन संचालित करने की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की योजना है। अंतर्राष्ट्रीय वॉटर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स भी निर्मित किया जा रहा है। इन सब के कारण कुशीनगर महात्मा बुद्ध के परिनिर्वाण स्थल के लिए आने वाले पयर्टक गोरखपुर में बिना इन सब को देखे नहीं जाएंगे। ऐसे में रोजगार, स्वरोजगार की संभावनाएं बढ़ेंगी। होटल, रेस्टोरेंट, बाजार के कारोबार में भी इजाफा होगा।

असम चुनाव में RJD ठोंकेगी ताल, तेजस्वी ने कहा गठबंधन कर लड़ेंगे चुनाव

Previous article

मेरठ में बड़ा हादसा टला, गंगा स्नान के लिए जा रही मिनी बस नहर में गिरी, कई लोग बाल-बाल बचे

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured