5e851ef6 f852 491d 9447 bc7f3e908b47 सिब्बल के बाद गुलाव नबी ने कांग्रेस पर कसा तंज, कहा- फाइव स्टार होटलों में बैठकर चुनाव नहीं लड़ सकते
फाइल फोटो

नई दिल्ली। आए दिन भारतीय राजनीति में नए मोड़ सामने आ रहे हैं। आजादी के बाद देश की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी कांग्रेस का स्तर अब लगातार गिरता जा रहा है। पार्टी के नए नेताओं के साथ-साथ अब पुराने नेता भी कांग्रेस पर निशाना साध रहे हैं। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को राजनेता और लोग नए-नए नामों से पुकारते हैं और उन पर तंज कसते हैं। ऐसा ही कुछ अब देखने को मिला। कांग्रेस आलाकमान पर हमला बोलते हुए गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि कांग्रेस सबसे निचले स्तर पर खड़ी है। कांग्रेस के बड़े नेताओं का अपने कार्यकर्ता के साथ संपर्क टूट गया है। इसके साथ राहुल गांधी को इशारों में ‘नया लड़का’ कहा है।

राहुल गांधी को इशारों में ‘नया लड़का’ कहा-

बता दें कि कांग्रेस पार्टी में आंतरिक कलह रुक-रुककर सामने आ रही है। पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं का बगावती रुख भी देखा जा चुका है। वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल के बाद अब सीनियर नेता गुलाम नबी आजाद भी पार्टी हाईकमान पर निशाना साध चुके हैं। बिहार चुनाव में मिली हार के बाद गुलाम नबी ने कांग्रेस आलाकमान पर अपनी भड़ास निकाली है। गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि पार्टी का पूरा ढांचा ध्वस्त हो चुका है। साथ ही कार्यकर्ताओं के साथ संपर्क भी टूट चुका है। वहीं गुलाम नबी आजाद ने राहुल गांधी को इशारों में नया लड़का बताया है। कांग्रेस आलाकमान पर हमला बोलते हुए गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि कांग्रेस सबसे निचले स्तर पर खड़ी है। कांग्रेस के बड़े नेताओं का अपने कार्यकर्ता के साथ संपर्क टूट गया है। ब्लॉक के लोगों के साथ, जिलों के लोगों के साथ संपर्क टूट गया है। गुलाम नबी ने कहा कि फाइव स्टार होटलों में बैठकर चुनाव नहीं लड़ सकते हैं।

जानें सिब्बल ने अपने जुबानी हमले क्या कहा था-

इससे पहले हाल ही में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल भी कांग्रेस हाईकमान पर निशाना साध चुके हैं। कपिल सिब्बल ने कहा था कि लोकसभा चुनाव 2019 के बाद से ही राहुल गांधी ये साफ कर चुके हैं कि उन्हें कांग्रेस का अध्यक्ष नहीं बनना है। राहुल गांधी ने यह भी कहा था कि वो नहीं चाहते कि गांधी परिवार का कोई भी शख्स अध्यक्ष पद पर हो। ऐसे में डेढ़ साल गुजर जाने के बाद भी कोई नेशनल पार्टी कैसे बिना अध्यक्ष के काम कर सकती है। दरअसल, दिसंबर के महीने में संभावित तौर पर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद का चुनाव होना है। इससे पहले भी कई बार अध्यक्ष पद को लेकर विवाद हो चुका है। कांग्रेस के कई नेताओं ने चिट्ठी लिखकर भी कई मुद्दे उठाए थे, जिससे भी काफी विवाद हो गया था।

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

फर्जी आईडी बनाकर अवैध खनन को देते थे अंजाम, पुलिस ने धरदबोचा

Previous article

अगर आप भी चाहती हैं हर महीने आमदनी तो LIC की ये पॉलिसी आपके लिए, पढ़ें

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.