purnima 2021 में 80 साल बाद इस तारीख को निकलेगा पूर्णिमा का चांद, इन राशियों को होने वाला है छपरफाड़ फायदा

हिंदू धर्म में पूर्णिमा का बहुत ज्यादा महत्व होता है। इस दिन व्रत रख कर श्री विष्णु के सत्यनरायण स्वरुप की पूजा-अर्चना कर कथा का पाठ करने से मनचाही इच्छाओं की पूर्ति होती है। पौष पूर्णिमा, कार्तिक पूर्णिमा, गुरु पूर्णिमा, फाल्गुन पूर्णिमा और श्रावण पूर्णिमा का विशेष महत्व होता है।

80 साल बाद 27 फरवरी को पूर्णिमा का चांद
वहीं कहा जा रहा है कि इस बार की पूर्णिमा 80 साल बाद आई है। ये पूर्णिमा कई राशियों पर बहुत अच्छा प्रभाव डालने वाली है।

मिथुन राशि
पैसों और परिवार की कुछ बातों को छुपा कर रखना होगा। परेशानियां बढ़ सकते हैं। कामकाज में मन नहीं लगेगा जरूरत पड़ने पर किसी तरह का बदलाव करने में संकोच ना करें वाहनों और मशीनों से सावधान रहना होगा. फालतू खर्चा भी हो सकता है समझेंगे और निजी स्तर पर उनकी मदद करने की भी कोशिश करेंगे।

तुला राशि
किसी काम के लिए मेहनत करते रहे उसका नतीजा इस सप्ताह आपको नहीं मिल पाएगा। विद्यार्थियों को सफलता के लिए ज्यादा मेहनत करनी होगी। इस सप्ताह के दौरान आपको अपनी सेहत पर भी पूरा ध्यान देना चाहिए आपकी सेहत गिर सकती है। पैसों कुछ बातों को अपने तक रखें।

कर्क राशि
सोच विचार करके ही कोई बात कहे अपने जितने गोपनीय रखेंगे। आपके लिए उतना ही अच्छा रहेगा। लोगों का ध्यान आप पर रहेगा इसीलिए हर काम में सावधानी रखें। किसी से ज्यादा सलाह मशविरा करने से कोई फायदा नहीं होगा। पैसों को लेकर किसी के साथ अन्य समस्या हो सकती है। दोस्तों और लव पार्टनर से अनबन होने के योग बन रहे हैं, सावधान रहें।

मीन राशि
इस राशि के कुछ अविवाहित लोग प्यार में निराश भी हो सकते हैं। हैंडीक्राफ्ट की वस्तुएं बेडरूम में लगाएं। दांपत्य जीवन में खुशियां आएंगी सत्ता आपका दांपत्य जीवन बहुत अच्छा रहेगा। पैसा ज्यादा खर्च हो सकता है। विद्यार्थियों के लिए यह समय अच्छा है। सफलता मिल सकती है। गुस्से की वजह से ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। आपको अपनी सेहत का ध्यान रखना चाहिए।

माघी पूर्णिमा
माघ पूर्णिमा को माघी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। हर मास के शुक्ल पक्ष की अंतिम तिथि को पूर्णिमा आती है और नए माह की शुरुआत होती है। साल की दूसरी पूर्णिमा 27 फरवरी, दिन शनिवार को पड़ रही है। इस दिन पूर्णिमा तिथि 26 फरवरी की दोपहर 3 बजकर 51 मिनट से 27 तारीख की दोपहर 1 बजकर 47 मिनट तक रहेगी। लिहाजा व्रतादि की पूर्णिमा 26 फरवरी को और स्नान दान की पूर्णिमा 27 फरवरी को होगी। कहते हैं कि- माघी पूर्णिमा के दिन स्वयं भगवान विष्णु गंगाजल में निवास करते हैं। माघी पूर्णिमा पर दान-दक्षिणा का बत्तीस गुना फल मिलता है। इसलिए इसे ‘बत्तिसी पूर्णिमा’ भी कहते हैं।

माघ पूर्णिमा शुभ मुहूर्त
माघ पूर्णिमा शनिवार, फरवरी 27, 2021 को पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ – फरवरी 26, 2021 को दोपहर 03:49 बजे, पूर्णिमा तिथि समाप्त- फरवरी 27, 2021 को दोपहर 01:46 बजे।

माघ पूर्णिमा व्रत विधि
इस पूर्णिमा पर सुबह उठ जाना चाहिए। इस दिन सुबह उठने का महत्‍व है। स्‍नान करना चाहिए। पवित्र नदी में स्‍नान नहीं कर सकते तो घर में नहाने के पानी में गंगाजल डालकर स्‍नान करना चाहिए। स्नान के बाद सूर्य मंत्र का उच्चारण करते हुए अर्घ्य देना चाहिए। स्नान के बाद व्रत का संकल्प लें। भगवान कृष्ण या विष्‍णु की पूजा करें। इस व्रत में काले तिल का विशेष रूप से दान किया जाता है।

मुख्यमंत्री से मिले नीति आयोग के उपाध्यक्ष, जाना मेक इन यूपी से कैसे बदलेगा प्रदेश का हाल

Previous article

ऋतिक रौशन बनाम कंगना रनौतः अभिनेता को समन जारी कर सकता है मुंबई क्राइम ब्रांच

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured