प्रतापगढ़ में जहरीली शराब बनी काल, महिला समेत चार लोगों की मौत

प्रतापगढ़: जिले में संग्रामगढ़ थाना क्षेत्र के रामपुर दाबी गांव में जहरीली शराब पीने से महिला समेत चार लोगों की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, गांव का ही एक व्यक्ति ओपी केमिकल से शराब बनाता था।

रविवार की शाम इन चारों ने उसी से शराब खरीद कर पी थी, जिसके बाद रात में इनकी हालत बिगड़ गई। इसके बाद परिजन आनन-फानन में इन्हें अस्पताल ले गए, जहां इनकी मौत हो गई। चार लोगों की मौत की सूचना मिलने के बाद पूरे गांव में हड़कंप मच गया।

अवैध शराब कारोबारियों में मचा हड़कंप

संग्रामगढ़ थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर पूरे मामले की छानबीन करने में जुटी हुई है। वहीं, लगातार दुकानों पर भी दबिश दी जा रही है। इससे अवैध शराब कारोबारियों में भी हड़कंप मच गया है।

जिले के रामपुर दाबी में रविवार को ग्राम मनोहरपुर में एक महिला सुनीता सरोज पत्नी जवाहर लाल सरोज की सीएचसी संग्रामगढ़ में इलाज के दौरान मौत हो गई। इसकी सूचना पर तत्काल स्थानीय पुलिस ने मौके पर पहुंची तो पता चला कि महिला बीमार थी, जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। शव का पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

शराब पीने के बाद से खराब हुई चारों की तबीयत

पुलिस को जानकारी मिली कि जवाहर लाल की पत्‍नी सुनीता सरोज और गांव के दो लोग विजय कुमार व रामप्रसाद बीमार हैं। इन तीनों लोगों का भी इलाज चल रहा था और इलाज के दौरान इनकी मौत हो गई। पूरे प्रकरण की गहराई से जांच की गई तो पता चला कि चारों लोगों ने शनिवार को बाबूलाल पुत्र पृथ्वी पाल पटेल निवासी नयापुरवा, गोपालपुर थाना नवाबगंज से शराब का पाउच लेकर पिया था, जिसके बाद उसी रात से चारों की तबीयत खराब हो गई थी और बाद में इलाज के दौरान मौत हो गई।

जहरीली शराब से हुई मौत के मामले में थानाध्यक्ष नवाबगंज प्रभात कुमार यादव, एक उप निरीक्षक और बीट कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है। आपको बता दें कि नकली शराब बनाने वाला मौके से फरार है। उसके भाई और एक महिला को पुलिस ने अपने हिरासत में ले लिया है। आरोपियों के विरुद्ध गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया गया।

तीन पुलिसकर्मी निलंबित, आरोपी की तलाश जारी

पुलिस महानिरीक्षक प्रयागराज, कवींद्र प्रताप सिंह ने बताया कि पुलिस ने सभी शवों को लेकर पंचायतनामा से संबंधित कार्रवाई की है। साथ ही प्रभारी पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़, अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेंद्र प्रसाद द्विवेदी ने स्थानीय पुलिस बल के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया। पीड़ित पक्ष से तहरीर प्राप्त कर अभियोग पंजीकरण की कार्रवाई कर आरोपी की तलाश की जा रही है। मौके पर कानून व्यवस्था की स्थिति सामान्य है।

सांसद की बहू अंकिता ने किया आत्महत्या का प्रयास

Previous article

जुड़वा बच्चों के जन्म की दर में वृद्धि, जानें रिसर्च के नतीजे

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.