UP: बुलंदशहर में एक परिवार पर सरेआम ताबड़तोड़ फायरिंग, चार की हालत गंभीर

बुलंदशहर: उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार एक तरफ जहां अपराधियों पर लगातार नकेल कसने की कवायद में जुटी है तो वहीं, कई जिलों में बदमाश बेखौफ हैं।

ताजा मामला बुलंदशहर का है, जहां बेखौफ बदमाशों ने रविवार को घर से निकले एक परिवार पर दिनदहाड़े अंधाधुंध गोलियां चला दीं। जिस परिवार पर हमला हुआ, पुरानी रंजिश के कारण पुलिस ने उस गनर भी उपलब्ध करवाया हुआ है।

गोली लगने से घायलों की हालत नाजुक

वहीं, बदमाशों द्वारा ताबड़तोड़ फायरिंग में गनर, पिता, पुत्र सहित एक अन्‍य व्‍यक्ति को गोली लगी है। सभी की हालत नाजुक बताई जा रही है। सभी को इलाज के लिए गौतमबुद्धनगर के कैलाश अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के मुताबिक, थाना ककोड़ के ग्राम धनौरा में धर्मपाल और अमित के परिवार के बीच पिछले एक दशक से भी ज्यादा समय से रंजिश चली आ रही है। दोनों ही पक्षों से पूर्व में कई हत्या की घटनाओं को भी अंजाम दिया जा चुका है। बीते साल मई में धर्मपाल के पिता कालीचरण की सरेआम हत्या हो गई थी।

इस हत्‍याकांड में यूपी पुलिस के विशेष जांच दल (एसटीएफ) ने अमित व सोनू सहित तीन को अरेस्‍ट किया था। यह सभी जेल में बंद हैं। मगर, पुलिस ने किसी अनहोनी के अंदेशे के चलते धर्मपाल के परिवार को गनर उपलब्ध करवा दिया था। आज सुबह धर्मपाल अपने बेटे संदीप और गनर विश्वेंद्र के साथ गाड़ी में बैठकर शहर की ओर आ रहे थे।

10 से ज्‍यादा बदमाशों ने की फायरिंग

इस दौरान गांव के बाहर जेवर मार्ग पर जैसे ही इनकी गाड़ी पहुंची तो सामने से आए कार व बाइक सवार करीब 10 से ज्यादा बदमाशों ने इनपर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। इसमें गनर, पिता-पुत्र को तो गोली लगी ही, घटना को अंजाम देकर फरार होते हुए की गई फायरिंग में ग्रामीण पवन पुत्र इंद्र को भी गोली लग गई।

हालांकि, बदमाश इस बड़ी वारदात को अंजाम देकर बुलंदशहर की ओर फरार हो गए, जबकि बाइक सवार जेवर की ओर भाग निकले। वहीं, घटना की सूचना पर वरिष्‍ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह कई थानों की फोर्स लेकर घटनास्‍थल पर पहुंच गए। पुलिस ने जिले की सभी सीमाओं को सील करते हुए चेकिंग अभियान शुरू कर दिया है। उधर, मामले की जानकारी मिलने पर एडीजी मेरठ राजीव सभरवाल व आइजी प्रवीण कुमार भी ग्राम धनोरा पंहुच गए और स्थिति की जानकारी ली।

पुलिस को मिली सफलता, 1400 पेटी अवैध शराब पकड़ी, होली में खपाने की थी तैयारी

Previous article

नौकरी की तलाश ब्लॉक स्तर पर होगी खत्म, एक दिन में मिलेगी 82 हजार नौकरियां

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured