मैच के दौरान की श्रीलंकाई टीम से की बदसलूकी,आईसीसी ने लगाया जुर्माना

नई दिल्ली। निदास ट्रॉफी त्रिकोणिय के छठे मुकाबले में बांग्लादेशी टीम को श्रीलंका के खिलाफ गुस्सा दिखाना भारी पड़ गया है। आईसीसी ने बांग्लादेशी टीम के कप्तान शाकिब अल हसन और नुरूल हसन पर 25 प्रतिशत मैच फीस काटने का जुर्माना लगाया है। आईसीसी ने दोनों खिलाड़ियों को अलग-अलग घटनाओं में दोषी मानते हुए ये सजा सुनाई है। आईसीसी ने शाकिब को खिलाड़ियों का समर्थन करने के लिए अनुच्छेद 2.1.1 का उल्लंघन करने और हसन को खेल को बदनाम करने व अनुच्छेद 2.2.1 का उल्लंघन का दोषी पाते हुए जुर्माना लगाया है।

इस सजा के अलावा दोनों को एक-एक डि-मैरिट अंक भी मिला है। दरअसल शुक्रवार को श्रीलंका के खिलाफ हुए मैच के अंतिम ओवर में बांग्लादेशी क्रिकेटर भड़क उठे आैर मैदान पर आ गए आैर नाराजगी जताई थी कि आखिरी ओवर की पहली दो गेंदे नो बाॅल थी, लेकिन अंपायर ने इसे करार नहीं दिया। इसके बाद शाकिब ने भी अपने बल्ल्बाजों को आगे ना खेलने के लिए कहा, लेकिन बाद में मैच पूरा हुआ आैर बांग्लादेश ने मैच जीता। जीत के बाद भी बांग्लादेशी टीम ने ड्रेसिंग रूम के शीशे तोड़े, जिसपर जांच जारी है।

जीत के बाद बांग्लादेशी टीम ने खोया आपा 

निदास ट्रॉफी के निर्णयक मैच में श्रीलंका को मात देकर फाइनल में पहुंचने वाली बांग्लादेश की टीम अपनी जीत से इतनी अतिउत्साहित हो गई और उसने बीच मैदान में ही नागिन डांस शुरू कर दिया और तो खिलाड़ियों ने उत्साह के मारे ड्रेसिंग रूम के शीशे तक तोड़ डाले। वहीं बांग्लादेशी टीम के कप्तान शाकिब-उल-हसन तो टी-शर्ट उतारकर मैदान में ही झूमने लगे। जीत से अति उत्साहित बांग्लादेश के खिलाड़ियों ने अपने मशहूर अंदाज में नागिन डांस करके अपनी जीत का ऐलान किया और उन लोगों ने क्रिकेट की स्प्रिट को भी दागदार कर दिया।