CRICKTER इंग्लैंड पर भड़का ये भारतीय दिग्गज- कहा पहले बोलते थे ब्लडी इंडियंस, अब चाटते हैं तलवे

भारत के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज फारुख इंजीनियर ने इंग्लैंड के खिलाड़ियों को लेकर सख्त टिप्पणी की है, और एशियाई क्रिकेटरों के साथ नस्लभेदी बर्ताव पर आवाद बुलंद की। उन्होंने इंग्लैंड के तेज गेंदबाज ऑली रॉबिनसन को हाल ही में उनके ट्वीट्स के लिए सस्पेंड किए जाने के बाद ये प्रतिक्रिया दी।

IPL की वजह इंग्लैंड के खिलाड़ियों में बदलाव आया

फारुख इंजीनियर ने कहा कि IPL की वजह इंग्लैंड के खिलाड़ियों में बदलाव आया है। अब वो भारतीयों के बारे में कुछ भी कहने से पहले सोचते हैं। फारुख ने कहा कि इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट खेलने के दौरान उन्हें नस्लवाद का सामना करना पड़ा था। जब मैं पहली बार काउंटी क्रिकेट खेलने यहां आया तो लोग अलग नजर से मुझे देखते थे कि ये भारत से आया है।

‘मैंने नस्लीय टिप्पणियों का सामना किया’

उन्होने कहा कि मैंने एक-दो बार नस्लीय टिप्पणियों का सामना किया। हालांकि टिप्पणियां व्यक्तिगत नहीं होती थी। मुझे सिर्फ इसलिए निशाना बनाया जाता था कि मैं भारत से आया था और मेरे बोलने के लहजा अलग था।

उन्होने कहा कि इंग्लैंड के पूर्व कप्तान जेफ्री बायकॉट ने कॉमेंट्री के दौरान ‘ब्लडी इंडियंस’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया था। हालांकि IPL आने के बाद से हालात बदल चुके हैं और अब इंग्लैंड के खिलाड़ी हमारे तलवे चाट रहे हैं।

पीएम बोरिस जॉनसन के बयान की आलोचना की

बता दें फारुख इंजीनियर ने रॉबिनसन को सस्पेंड किए जाने के बाद ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के बयान की आलोचना की। उन्होंने कहा कि एक प्रधानमंत्री को इस तरह से बयान नहीं देना चाहिए। रॉबिनसन को सजा देकर इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने सही कदम उठाया। उसने गलती की थी तो उसे सजा मिलनी चाहिए।

बता दें रॉबिनसन ने 18 साल की उम्र में कुछ सेक्सिस्ट ट्वीट किए थे। इसके बाद ईसीबी ने उन्हें इंटरनेशनल क्रिकेट से सस्पेंड कर दिया था। इस कार्रवाई को ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने अति माना था।

चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं मातृ-शिशु कल्याण मंत्री ने सीएचसी माल और मलिहाबाद का किया निरीक्षण

Previous article

Skin Care: मलाइका अरोड़ा की स्कीन करती है ग्लो, जाने क्या है सीक्रेट

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured