January 27, 2022 10:48 am
featured यूपी

विदेशियों ने संस्कृत पढ़ कर जाना वेदों का रहस्य

विदेशियों ने संस्कृत पढ़ कर जाना वेदों का रहस्य

फतेहपुर: संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने और उससे लोगों का जुड़ाव बढ़ाने के लिए राजकीय महिला डिग्री कॉलेज ने शानदार पहल की। मंगलवार को वेबिनार कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्राचार्य डॉक्टर अपर्णा मिश्रा ने संस्कृत की महानता पर प्रकाश डाला। संस्कृत सप्ताह के अवसर पर श्रावास्ती जिले के महाविद्यालय के साथ विषय पर गंभीर चर्चा हुई।

वेबिनार के दौरान विशेषज्ञों ने संस्कृत के उत्थान और विकास पर चर्चा की। प्राचार्य डॉक्टर अपर्णा मिश्रा ने बताया कि, यदि हमने संस्कृत भाषा को नहीं जाना तो हम भारतीय संस्कृति को जीवित नहीं रख पाएंगे। पाश्चात देशों ने संस्कृत भाषा को पढ़कर हमारे ग्रंथों में छुपे गूढ़ रहस्य को जाना।

संस्‍कृत को जीवन प्रदान करने की अपील

महामाया राजकीय महाविद्यालय श्रावस्ती के विशषज्ञ डॉक्टर धर्मेंद्र गुप्ता ने वेबिनार में अपने विचारों को रखा। इस दौरान उन्होंने संबोधन में कहा कि, संस्कृत ग्रंथ चाहे वह वेद हो या आधुनिक समय के ग्रंथ सब में समन्वय की भावना है। संस्कृत सेवकों से उन्होंने अपील करते हुए कहा कि यह हमारा दायित्व बनता है कि हमसब संस्कृत को जीवन प्रदान करें।

वहीं, राजकीय महिला डिग्री कॉलेज की डॉक्टर चारू मिश्रा ने वेबिनार को संबोधित करते हुए कहा कि आज के समय में संस्कृत भाषा का महत्व केवल हमारे कर्मकांडों तक सीमित हो गया है। ऐसे में हमें संस्कृत को कर्मकांड से निकालकर आम लोगों के बीच लाना होगा, जिससे हम संस्कृत को उसका गौरव एक बार फिर से वापस लौटा सकें। प्राचार्य ने कार्यक्रम के समापन के दौरान कहा कि ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन लगातार होते रहना चाहिए, जिससे इसका लाभ मिल सके। वेबिनार में अंशू, आरती देवी, कल्पना, नीलू, निकिता, कोमल देवी सहित कई छात्राएं मौजूद रहीं।

Related posts

राष्ट्रपति कार्यालय ने किया ऐलान, मैक्रों स्थानीय समयानुसार देशवासियों को करेंगे संबोधित

Rani Naqvi

कश्मीर में पकड़े गए आतंकी का कबूलनामा: मैं पाकिस्तानी हूं

bharatkhabar

फिल्मों के सहारे बीजेपी जीतेगी 2019 का चुनाव! रिलीज हुई पीएम मोदी पर बनी फिल्म

Ankit Tripathi