featured जम्मू - कश्मीर

जम्मू कश्मीर में विदेशी महिला का महीनों तक होता रहा रेप, और जबरन पढ़या गया कुरान और नमाज..

rape 2 जम्मू कश्मीर में विदेशी महिला का महीनों तक होता रहा रेप, और जबरन पढ़या गया कुरान और नमाज..

भारत के कई हिस्सों से विदेशी महिलाओं और पुरूषों के साथ होती दरिंदगी की घटनाएं सामने आती रहती है। जिनको देखते हुए भारत सरकार कड़े कदम भी उठाती रहती है। लेकिन जिस घटना के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं। उसे जानकर आपकी रूह कांप जाएगी।
पूर्व ऑस्ट्रेलियन प्रो सर्फर कार्मन ग्रीनट्री ने अपनी एक नई किताब में खुलासा किया है कि, जब वह 2004 में भारत आयीं तो कुछ लोगों ने उन्हें धोखे से बंधक बनाया और उनके साथ महीनों तक रेप किया। इसका खुलासा उन्होंने अपनी किताब में किया है। उन्होंने इस घटना के बारे में बताते हुए लिखा कि, जब वो भारत आयीं तो जम्मू-कश्मीर में एक हाउसबोट मालिक ने उन्हें कैद कर लिया और कई महीनों तक उनका रेप किया।

greentree 1 जम्मू कश्मीर में विदेशी महिला का महीनों तक होता रहा रेप, और जबरन पढ़या गया कुरान और नमाज..
ग्रीनट्री का कहना है कि, उस वक्त उनकी उम्र 22 साल थी। ये घटना उनके साथ तब घटी जब वो धर्मशाला में दलाई लामा से मिलने के लिए भारत आयीं थीं।अपनी किताब अ डेंजरस परसूट ऑफ हैप्पिनेस के बारे में बात करते हुए, उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के डेली मेल के साथ इस दर्दनाक घटना को शेयर किया है।

कुछ लोगों ने खुद को सरकारी टूरिज़्म ऑपरेटर्स के तौर पर पेश करके उन्हें धोखे से श्रीनगर की फ्लाइट में बिठा दिया। जहां उनके बलात्कारी रफ़ीक अहमद दुंदू ने उन्हें रिसीव किया और फिर दो महीने तक अपनी हाउसबोट में बंदी बनाए रखा। इस दौरान रेपिस्ट रफीक ने उनका सामान और पासपोर्ट भी रख लिया। और हद तो तब हो गई जब रेपिस्ट और उसके घरवालों ने मुझ से जबरन कुरान पढ़वाया और नमाज पढ़ने के लिए कहा। इस दौरान मेरा काफी शोषण किया गया।ग्रीनट्री ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि, मैंने उसे अपने साथ दरिंदगी इसलिए करने दी ताकि वो मुझे छोड़ दे लेकिन उसने ऐसा नहीं किया और मेरा दो महीनों तक  रेप करता रहा।

ग्रीनट्री का आरोप है कि दुंदू का परिवार जिसमें उसकी बीवी, मां-बाप, भाई और बच्चे शामिल थे, उसी बोट पर रहते थे, लेकिन उन्होंने उसकी मदद नहीं की।

https://www.bharatkhabar.com/ayushman-back-on-shoot/
लेकिन जब उन्होंने इस घटना का खुलासा किया उसके बाद उनके आरोपी को सिर्फ 6 महीनें की जेल हुई और बाद में उसे छोड़ दिया गया। ग्रीनट्री ने इस घटना का खुलासा 16 साल के बाद किया है। ग्रीनट्री के साथ घटि ये घटना काफी डराने वाली है। लेकिन इस घटना का कोई पुख्ता सबूत न होने की वजह से भारत खबर इस दरिंदगी की पुष्टी नहीं करता है।

Related posts

बोनी कपूर के घर में दो और लोग पाए गए कोरोना वायरस से संक्रमित

Rani Naqvi

INSA सुनयना ने एक संदिग्ध जहाज से हथियार और गोला-बारूद बरामद किए

mahesh yadav

उत्तराखंड DGP अशोक कुमार ने अधिकारियों संग ली बैठक, दिए मुख्य निर्देश

pratiyush chaubey