वित्त मंत्री ने किया बजट पेश, हमारा मूल मंत्र सुधार, प्रदर्शन और रूपांतरण

गैरसैंण। उत्तराखंड विधानसभा में त्रिवेंद्र रावत सरकार ने अपने कार्यकाल का दूसरा बजट पेश किया। इस दौरान प्रदेश के वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने अपने बजट भाषण की शुरुआत पीएम मोदी के सबका साथ सबका विकास के मंत्र से की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के कहे अनुसार इस वित्त वर्ष का बजट आपका बजट आपकी राय पर आधारित है। यानी जनता की राय पर जनता के लिए आधारित है। पीएम मोदी के मूल मंत्र सुधार, प्रदर्शन और रूपांतरण के जरिए हमारी सरकार ने प्रदेश के विकास के लिए अहम योगदान निभाया है। हमारी सरकार का मूल मंत्र प्रदेश के हर वर्ग तक विकास को पहुंचाना है। 

वित्त मंत्री ने बजट पेश करते हुए कहा कि सरकार ने किसानों को लाभ देने वाली दीनदयाल किसान सहकारिता योजना के तहत किसानों के लिए 30 हजार करोड़ रुपये आवंटित किए  हैं। सिंचाई के लिए सरकार ने सौंघ बांध परियोजना के लिए 40 हजार करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। वित्त मंत्री ने कहा कि हमारी सरकार प्रदेश के विकास के लिए ईज ऑफ डूइिंग के साथ ईज ऑफ लिविंग की दिशा में काम कर रही है। हमारी सरकार उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था को नया आकार देने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है इसलिए इस बजट को सरकार ने पिछली बार के मुकबले बढ़ा दिया।

सरकार ने इस बार बजट के लिए  2,17.609 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं, जोकि पिछली बार के मुकाबले 22,300 करोड़ रुपये ज्यादा है। वित्त मंत्री ने बताया कि वित्त वर्ष 2016-17 में राज्य की विकास दर 6.7 फीसदी के हिसाब से बढ़ी थी। उन्होंने कहा कि हमारी संयुक्त राष्ट्र स्वस्थ्य संगठन द्वारा बनाए गए नियमों के आधार पर प्रदेश का स्वास्थ्य रखने की दिश में काम कर रही है। सरकार ने साल 2020 तक उत्तराखंड को सफल प्रदेश बनाने का लक्ष्य रखा है,जिसकी दिशा में सरकार काम कर रही है। उन्होंने पिछले साल सरकार ने स्किल इंडिया को बढ़ाने के लिए 13 जनपदों में 200 केंद्र स्थापित किए हैं।