featured यूपी

बहराइच के एक गोदाम में लगी भीषण आग, 50 लाख का सामान जलकर खाक!

आग लगने का सिलसिला जारी, बहराइच के एक गोदाम में लगी भीषण आग, 50 लाख का सामान जलकर खाक!

बहराइच: गर्मी शुरू होते ही प्रदेश में जगह-जगह आग लगने का दौर शुरू हो गया है। सूबे के विभिन्न इलाकों में रोज आग लगने की खबरें सामने आ रही हैं। वहीं एक बार आग लगने की घटना सामने आई है।

जरवल रोड थानाक्षेत्र का है मामला

मामला जिले के जरवल रोड थानाक्षेत्र के लखनऊ-बहराइच हाईवे के पास का है। यहां थोक व्यापारी का एक गोदाम है। इस गोदाम में रात के दस बजे अचानक आग लग गई। धीरे-धीरे आग की लपटें पूरे गोदाम में फैल गईं। इससे गोदाम कुछ ही देर में जलकर राख हो गया।

आग को बुझाने में लगे 6 घंटे

वहीं सूचना मिलने ही दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंचीं और दो टैंकरों की मदद से छह घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

वहीं घटनास्थल पर एसडीएम और एएसपी ग्रामीण भी मौजूद रहे। इस अग्निकांड में व्यापारी का करीब 50 लाख रुपए का नुकसान होना बताया जा रहा है। जिस गोदाम में आग लगी उसमें रिफाइंड आयल भरा हुआ था।

आग लगने के कारण अज्ञात

इस दौरान भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर मौजूद रहा और लेखपाल, कानूनगो ने नुकसान का आंकलन किया। वहीं एसडीएम ने कहा कि आग लगने के कारणों की पड़ताल की जा रही है। रिपोर्ट के आने के बाद आगे की कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

बढ़ने लगी आग की घटनाएं

गौरतलब है कि यूपी में गर्मी के आगमन के साथ ही आग लगने की घटनाएं भी सामने आने लगी हैं। अभी तीन दिन पहले राजधानी लखनऊ के सबसे व्ययस्तम बाजार अमीनाबाद में एक दुकान जलकर राख हो गई थी, वहीं अलीगंज थानाक्षेत्र के पास एक झुग्गी-झोपड़ी में भीषण आग लग गई थी।

इस आग से गरीबों का लाखों का सामान जलकर खाक हो गया था। इसी तरीके की और भी खबरें पूरे प्रदेश से अब आने लगी है। लोगों की थोड़ी सी लापरवाही से ये आग लग रही है। वहीं गर्मी का मौसम भी आग लगने का एक कारण है।

सिगरेट-बीड़ी जलता फेंक देते हैं लोग

बता दें कि गर्मी के मौसम में पेड़ों के पत्ते गिरकर सूख जाते हैं। इसी के साथ साथ गर्मी के मौसम में आग लगने के लिए अनुकूल माहौल होता है। ऐसे में जरा सी चिंगारी भीषण आग को हवा दे देती है।

अक्सर लोग बीड़ी या सिगरेट को जला छोड़कर जंगल में फेंक देते हैं या शरारती तत्व ये काम करते हैं इससे भी विभिन्न जगहों पर आग लग जाती है। वहीं तारों की मरम्मत न कराने से भी शार्ट सर्किट हो जाता है और आग लग जाती है।

 

 

 

 

Related posts

श्रीलंकाई राष्ट्रपति ने भंग की संसद, पांच जनवरी को होगा चुनाव

mahesh yadav

राष्ट्रपति के चुनिंदा भाषणों की पुस्तकें उनकी ज्ञान धारा का संकलन हैं: उपराष्ट्रपति

Trinath Mishra

विवादों के घेरे में नए थलसेना अध्यक्ष, कांग्रेस ने वरिष्ठता को लेकर उठाए सवाल

shipra saxena