फील्ड मार्शल मानेकशॉ आज भी हमारे राष्ट्रीय नायक: राष्ट्रपति

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को फील्ड मार्शल सैम होरमूजजी फ्रामजी जमशेदजी मानेकशॉ को उनकी 104वीं जयंती पर याद किया। कोविंद ने कहा कि देश के सर्वश्रेष्ठ सैन्य कमांडर फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ आज भी हमारे राष्ट्रीय नायक हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने संदेश में कहा, 1971 के युद्ध में सेना के नेतृत्व के लिए चर्चित फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ की जयंती पर हम उन्हें अपने सर्वोत्तम सैन्य कमांडरों में से एक के रूप में याद कर रहे हैं। वे अभी भी हमारे बहु-प्रशंसित राष्ट्रीय नायक हैं।

उल्लेखनीय है कि सैम मानेकशॉ का जन्म 3 अप्रैल 1914 को पंजाब के अमृतसर में हुआ था। 27 जून 2008 को उनका देहांत हो गया था। भारतीय सेना के प्रमुख सैम मानेकशॉ के नेतृत्व में भारत ने 1971 में हुए भारत-पाकिस्तान युद्ध में विजय प्राप्त की थी। मानेकशॉ के कुशल नेतृत्व के चलते ही पाकिस्तानी सेना ने युद्ध में महज 14 दिनों में घुटने टेक दिए थे। इसके परिणामस्वरूप ही बांग्लादेश का जन्म हुआ था।