September 28, 2022 11:19 pm
featured Breaking News देश

हाफिज सईद के खिलाफ जारी हुआ फतवा, मुसलमान मानने से किया इंकार

Hafiz Saeed हाफिज सईद के खिलाफ जारी हुआ फतवा, मुसलमान मानने से किया इंकार

बरेली। मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के खिलाफ एक फतवा जारी किया गया है। दरअसल बरेली के मुफ्ती मुहम्‍मद सलीम ने हाफिज सईद को आतंकी वि‍चारधारा रखने वाला शख्‍स बताया है तथा उन्‍हें मुसलमान मानने और उनकी बातों पर यकीन करने से मना कि‍या है।

Hafiz-Saeed

गौरतलब है कि जयपुर के रहने वाले मुहम्मद मोइनुद्दीन नामक व्यक्ति ने हाफिज सईद को लेकर कुछ सवाल पूछे थे। उसके सवालों के जवाब में बरेली की दरगाह आला हजरत के सौदागरान मुफ्ती मुहम्मद सलीम बरेलवी ने उसके प्रश्नों का उत्तर देते हुए कहा कि जमात-उद-दावा के सरगना और मुम्बई हमलों के मुख्य गुनहगार हाफिज सईद का इस्लाम से कोई ताल्लुक नहीं है।

जानिए आखिर क्या है पूरा मामला?

मोहम्‍मद मोईनुद्दीन ने 12 अगस्‍त को एक लेटर भेजकर हाफिज सईद से संबंधित कुछ सवाल पूछे थे।

– मोइनुद्दीन ने सवाल पूछा था कि सईद अल्लाह और रसूल मुहम्मद साहब की शान में गुस्ताखी भरी पंक्तियों को सही ठहराते हुए उन्हें लिखने वालों को मुसलमान मानता है। साथ ही वह धर्मविरद्ध दृष्टिकोण और विचारधारा का प्रचार करके लोगों को आतंकवादी घटनाएं करने के लिये उकसाता है।

– क्या ऐसे शख्स को मुसलमान कहा जाना चाहिये?

– क्‍या ऐसे शख्‍स को मुसलमान माना जा सकता है?

– क्‍या ऐसे शख्‍स की बातों और तकरीरों को सुनना जायज है?

इस पर जवाब देते हुए आला हजरत बरेली के मुफ्ती मुहम्‍मद सलीम बरेलवी ने कहा-

– अल्लाह और रसूल (मुहम्मद साहब) की शान में गुस्ताखी करने वालों से किसी भी तरह का ताल्लुक रखना नाजायज और हराम है।

– लिहाजा हाफिज सईद ऐसे लोगों से सम्बन्ध रखने की वजह से इस्लाम से खारिज हो चुका है।

– उसे मुसलमान मानना और उसकी बातों को सुनना भी नाजायज है।

– अपने आपको और अपने लोगों को भी इससे और इसकी वि‍चारधारा से दूर रखें।

Related posts

सुप्रीम कोर्ट ने पीएम केयर्स फंड, ट्रांसफर की मांग की खारिज

Ravi Kumar

अखिलेश खेमे ने की चुनाव आयोग से मुलाकात

kumari ashu

जानें मलमास या पुरुषोत्तम मास में क्या करें क्या नहीं? अधिकमास 2020 कब है?

Trinath Mishra