bjp 3 फारुख अब्दुल्ला ने दी बीजेपी-आरएसएस को नसीहत, धार्मिक आधार पर देश को बांटने से बचे

नई दिल्ली। अपने विवादित बयानों के चलते सुर्खिया बटोरने वाले नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने बीजेपी और आरएसएस को नसीहत दी है। उन्होंने कहा कि बीजेपी और राष्ट्रीय स्वसंसेवक संघ को हिंसा फैलाने और लोगों की भावनाओं का दुरुपयोग करने से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि धार्मिक आधार पर देश को बांटने का बढ़ता चलन राष्ट्र हित के लिए हानिकारक है। अब्दुल्ला ने गुजरात विधानसभा चुनावों को धर्म के आधार पर बिगाड़े जाने पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि ये भारतीय राजनीति की सबसे दुखद गातिविधि है।

bjp 3 फारुख अब्दुल्ला ने दी बीजेपी-आरएसएस को नसीहत, धार्मिक आधार पर देश को बांटने से बचे

अब्दुल्ला ने कहा कि धर्म के आधार पर देश को बांटने का बढ़ता चलन राष्ट्र हित के लिए नुकसानदेह साबित होगा इसलिए ऐसी सोच को किसी भी कीमत पर खत्म किया जाना चाहिए। नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता ने राजनीतिक उद्देश्यों की पूर्ति के लिए मंदिर-मस्जिद जैसे मुद्दों पर लोगों को लड़ाई के लिए भड़काने के प्रयासों की निंदा की। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत किसी खास धर्म के लोगों का देश नहीं है, बल्कि ये कई रंगों के खूबसूरत फूलों का एक गुलदस्ता है। धर्मनिरपेक्षता देश में सभी धर्मों को मानने वाले लोगों के पास समान अधिकार है। अब्दुल्ला ने कहा कि मौजूदा विद्वेषपूर्ण माहौल में नेशनल कॉन्फ्रेंस का धर्मनिरपेक्षता के ध्वज को ऊंचा रखने में चुनौतीपूर्ण भूमिका निभाती है।

 

यूएन की रिपोर्ट में दावा, चालू वित्त वर्ष में भारत की जीडीपी दर 7.2 फीसदी रहने की संभावना

Previous article

निर्भया गैंगरेप मामले के चार दोषियों की पुनर्विचार याचिका पर आज सुनवाई

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.