September 30, 2022 9:57 pm
Breaking News featured देश

किसानों ने किया दिल्ली-कौशांबी रोड जाम, फल वितरित करने वाले ट्रक को रोकने का लगाया आरोप

9bab333e 7e15 4e28 ac9e 4c3b947a9a2e किसानों ने किया दिल्ली-कौशांबी रोड जाम, फल वितरित करने वाले ट्रक को रोकने का लगाया आरोप

नई दिल्ली। कृषि कानून के विरोध में किसान आंदोलन को आज 15वां दिन है। सरकार और किसानों के बीच कई दैर की बातचीत भी हो चुकी है। लेकिन सरकार ने साफ कह दिया है कि कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया जाएगा, बल्कि उनमें संशोधन किया जाएगा। लेकिन किसान कृषि कानून को वापस लेने की मांग पर अड़े हुए है। सरकार और किसानों की मंगलवार हुई बैठक के बाद बुधवार को प्रस्ताव किसानों के सामने पेश किया गया था। जिसे किसानों ने खारिज कर दिया। इसके साथ ही देश में आंदोलन को देश में तेज करने की बात कही। इसके साथ ही आज किसानों ने किसानों ने दिल्ली से कौशाम्बी की ओर जाने वाली सड़क को बंद कर दिया है। किसानों का दावा है कि जो ट्रक फल वितरित कर रहा था, उसे जब्त कर लिया गया है।

कृषि कानूनों के बारे में फैलाई जा रही फर्जी खबर- प्रकाश जावड़ेकर 

बता दें कि केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि नए कृषि कानूनों के बारे में फैलाई जा रही फर्जी और भ्रामक खबरों और अफवाहों का शिकार न हों। एपीएमसी मंडियों का संचालन जारी रहेगा और नए कृषि कानूनों के पारित होने के बाद कोई एपीएमसी मंडी बंद नहीं हुई। नए कृषि कानूनों और सुधारों के पीछे की वास्तविकता को जानें। शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि अगर किसी केंद्रीय मंत्री को जानकारी है कि किसानों के आंदोलन के पीछे चीन और पाकिस्तान का हाथ है, तो रक्षा मंत्री को तुरंत चीन और पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक करना चाहिए। राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और सशस्त्र बलों के प्रमुखों को इस मुद्दे पर गंभीरता से चर्चा करनी चाहिए। किसानों ने दिल्ली से कौशाम्बी की ओर जाने वाली सड़क को बंद कर दिया है। किसानों का दावा है कि जो ट्रक फल वितरित कर रहा था, उसे जब्त कर लिया गया है। कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघू बॉर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। भारतीय किसान यूनियन के मंजीत सिंह ने कहा कि सरकार की मंशा किसानों के आंदोलन को कमजोर करने की है, लेकिन कई और किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए दिल्ली आ रहे हैं।

किसान अपने अधिकारों के लिए लड़ रहे- स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने ट्वीट करके कहा कि आज हमारे किसान अपने अधिकारों के लिए लड़ रहे हैं। सभी साथी नागरिकों को यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि हम उनका समर्थन करते हैं। इस मानवाधिकार दिवस पर एक स्टैंड लें। मानवता के लिए इस लड़ाई में साथ खड़े रहे। तीनों कानूनों की वापसी की मांग को लेकर किसानों ने अपना आंदोलन और तेज करने का ऐलान किया है. किसान मजदूर संघर्ष समिति के ज्वाइंट सेक्रेटरी सुखविंदर सिंह का कहना है कि आने वाले दिनों में हमारा आंदोलन और तेज होगा। देश भर में यह आंदोलन चलेगा। एक दिन के लिए टोल फ्री किया जाएगा। इसके अलावा जिला मुख्यालय पर धरने दिए जाएंगे। 14 तारीख से देशभर के बाकी राज्यों में भी आंदोलन शुरू होगा। सरकार जब तक ये तीनो कानून वापस नहीं लेती। तब तक हम आराम से बैठने वाले नहीं हैं।

Related posts

बारिश ने बढ़ाई ठंड, हिमाचल और उत्तराखंड में बर्फबारी

Vijay Shrer

नक्सलवाद को लेकर हुई बैठक में अमित शाह ने अपनाया कड़ा रुख, देश के 90 जिले माओवादी प्रभावित

Kalpana Chauhan

गुजरात चुनावः लालू ने किया ट्वीट, कमल का फूल ऑलवेज बनाविंग अप्रैल फूल…

Vijay Shrer