Breaking News featured दुनिया भारत खबर विशेष साइन्स-टेक्नोलॉजी

चीन में बनी वैक्सीन का दावा झूठा, तुर्की की शोध में आया नतीजा, जानें पूरा मामला

china vaccineaqlPLxhWwZT e1614933084355 चीन में बनी वैक्सीन का दावा झूठा, तुर्की की शोध में आया नतीजा, जानें पूरा मामला

तुर्की – तुर्की ने कहा है कि चीन की बनाई वैक्सीन बीमारी की रोकथाम में 83.5 फीसद प्रभावी है जबकि चीनी कंपनी सिनोवाक बायोटेक ने दावा किया था कि उसकी बनाई गयी कोविड वैक्सीन बीमारी की रोकथाम के लिए 91. 25 फीसद प्रभावी है।

इस शोध पर मुरत अकोवा का क्या कहना है –
बता दे कि तुर्की में शोधकर्ताओं ने अपने शुरुवाती शोध में पाया कि यह वैक्सीन वाकई बीमारी की रोकथाम के लिए 91. 25 फीसद प्रभावी है जबकि तीसरे और अंतिम परीक्षण में पाया कि चीनी कंपनी की यह दवा 91. 25 फीसद नहीं बल्कि 83.5 फीसद प्रभावी है। तुर्की में मानव परीक्षण के प्रमुख मुरत अकोवा ने बताया कि अंतिम प्रभाव की दर 41 संक्रमण पर आधारित थी और उनमें से 32 लोगों को प्लेसेबो दिया गया था। उन्होंने कहा कि मानव परीक्षण के दौरान वैक्सीन के असर की जांच दूसरी खुराक के 14 दिन बाद कम से कम एक लक्षण और पॉजिटिव पीसीआर टेस्ट की बुनियाद पर है।

सेरहट उनल का क्या कहना है इस चीनी वैक्सीन पर –
सरकार के एडवायजरी साइंस काउंसिल के सदस्य सेरहट उनल ने बताया कि मानव परीक्षण के दौरान कोई महत्वपूर्ण साइड-इफेट्स उजागर नहीं हुआ और वैसे भी तुर्की में इस वैक्सीन का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर किया जा रहा है और अब तक कोई गंभीर प्रभाव सामने नहीं आया इसलिए हम निश्चित तौर पर कह सकते हैं कि ये वैक्सीन सुरक्षित हैं। बता दे कि तुर्की ने शुरुआती नतीजे में दिसंबर में 29 संक्रमण का एलान किया था और उसका असर 91.25 फीसद बताया था। शोध में ये बात साबित हो गयी हैं कि चीन की कंपनी अपनी कोविड वैक्सीन को लेकर जो दावा कर रही थी वो गलत था मगर बतादे की आज भी तुर्की में इस वैक्सीन का इस्तेमाल किया जा रहा है। गौरतलब है कि शुरुआती नतीजे जारी होने के बाद जल्द ही इस चीनी वैक्सीन को तुर्की के अधिकारियों की तरफ से आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई थी। तुर्की में पहले ही कोरोनावैक वैक्सीन के 9.32 डोज देश भर के लोगों को अभियान में लगाए जा चुके हैं और ये अभियान जनवरी के मध्य में शुरू हुआ था तथा अब तक, 2 मिलियन से ज्यादा लोगों को दो डोज दी जा चुकी हैं।

Related posts

पाकिस्तान ने फिर दी परमाणु हमले की धमकी

Rani Naqvi

जीएसटी अर्थव्यवस्था, संघवाद को बढ़ावा देगा : जेटली

bharatkhabar

शीतलहर के बाद कोहरे का हमला, तापमान पर ‘कब्जा’, जनजीवन अस्त-व्यस्त

Trinath Mishra