बिहार में माफियाओं का शराब सप्लाई का आइडिया फेल, ड्राईवर व हैल्पर गिरफ्तार

बिहार में नीतीश राज्य में भले ही शराबबंदी हो पर अंतरराज्यीय माफिया अभी भी नए–नए तरीके से बिहार में शराब की अबैध तरीके से सप्लाई करना चाहते थे।यूपी के लखीमपुर खीरी जिले की पुलिस ने माफियाओं के मंसूबे को रोक दिया है। लखीमपुर खीरी पुलिस ने अंग्रेजी शराब की बड़ी खेप बरामद की है। खबर के मुताबित इस खेप को बिहार भेजने की योजना थी। चावल से भरे ट्रक में छिपाकर अंग्रेजी शराब हरियाणा के करनाल से बिहार ले जाई जा रही थी।

 

प्रतीकात्मक तस्वीर

 

बता दें कि कुछ दिन पहले खीरी जिले से सटे हरगदोई जिले में भी एक ट्रक में शराब प्याज की आड़ में ले जात पकड़ी गई थी। पसगवां इलाके से पकड़े गए ड्राईवर ने पूछताछ में कबूला है। कि शराब की खेप विहार के मधुवनी में उतारी जानी थी।

 

शराब तस्करों का नेटवर्क खीरी जिले के एक सफेदपोश से भी जुड़ा बताया जा रहा है।शराब हरियाणा के करनाल से सिलीगुड़ी जा रहे चावल के ट्रक में छुपाई थी। सूचना पर मोहम्मदी एसडीएम भगवानदीन वर्मा और सीओ विजय आनन्द ने छापा मारकर ट्रक को पकड़ लिया।

 

बताया गया है। कि तस्करों के तार मैजलगंज इलाके से जुड़े हैं। जिसकी पुलिस जांच कर रही हैं।ड्राईवर खीरी जिले के मैजलगंज के खखरा गांव का है।

 

शराब के अवैध करोबार मे एक सफेदपोश नेता के शामिल होने की शक पुलिस ने जताई है।एसपी रामलाल वर्मा ने कहा इस अंतर राज्यीय गैंग में कौन –कौन है। इसकी जानकारी की जा रही है। पुलिस ने 400 से ज्यादा शाराब की पेटी बरामद की और 1200 बोरी चावल के साथ बरामद की हैं। जानकारी मिली है कि बिहार में शराबबंदी के बाद शराब की मांग बढ़ गयी है। जिससे हरियाणा और यूपी से प्याज और आलू ,चावल के ट्रकों में शराब सप्लाई की जा रही है।