untitled 25 आठ घंटे तक घर पर पडी रही बुजुर्ग ़महिला की लाश

लखनऊ। सरकारी विभागों की नाकामी का नतीजा रहा कि बुजुर्ग महिला का शव आठ घंटे से अधिक कमरे में पडा रहा। उनके परिवार में कोई भी दाह संस्कार करने वाला नहीं था। बेटा और बहु कोविड अस्पताल में भर्ती हैं। मुहल्लें वालों को सुबह बुजुर्ग महिला की मौत होने की खबर लगी तो लोगों ने हसनगंज पुलिस से संपर्क साधा। कई दफा काॅल करने बाद दो सिपाही करीब दो घंटे बाद मौके पर आए।

सिपाहियों ने मदद की बजाए लोगों को सीमा विवाद का ज्ञान समझाने लगे। कुछ देर ठहरने बाद दोनों सिपाही वापस लौट गए। लोगों का आक्रोश बढा तो लोगों ने टिवटर जरिए मदद मांगना शुरू की। सिपाििहयों की पूरी करतूत पुलिस कमिश्नर से भी लोगों ने अवगत कराया। घंटों इंतजार बाद शव लेने गाडी आई तो पुलिसकर्मी दूर खडे तमाशा देखते रहे।

बेटा-बहु कोविड अस्पताल में भर्ती, घर में अकेली थी बुजुर्ग महिला

त्रिवेणी नगर सेकेंड की रहने वाली माया सक्सेना 70 की मंगलवार तडके करीब पांच बजे मौत हो गई। वह घर पर अकेली थी। उनका आॅक्सीजन लेवल लगातार गिर रहा था। उनका बेटा विवेक व बहु अंजू कोविड अस्पताल में भर्ती हैं। जिसमें बेटे की हालत गंभीर बनी है। बहु ने सुबह करीब आठ बजे पडोसियों के नंबर पर काॅल करके मदद की गुहार लगाई। लोगों ने स्वास्थ्य विभाग व नगर निगम से शव ले जाने की गुहार लगाई। दोपहर करीब 12 बजे शव वाहन स्वास्थ्य विभाग जरिए एलाॅट किया गया। स्वास्थ्यकर्मी बिना पुलिस की मौजूदगी के शव उठाने को राजी न हुए।

हसनगंज थाने के दो सिपाहियों ने तीन घंटे तक उलझाये रखा मामला, पुलिस कमिश्नर से हुई शिकायत

स्थानीय निवासी पप्पू दीक्षित ने बताया कि कई दफा थाने पर संर्पक किया गया मगर पुलिस न आई। दोपहर करीब एक बजे हसनगंज कोतवाली के सिपाही नीरज कुमार सरोज व नईम खांन आए। दोनों सिपाहियों ने लाश को उठवाने में मदद करने की बजाए सीमा विवाद में मामला उलझा कर चले गए। इसे लेकर लोगों में आक्रोश फैल गया। लोगों ने मामले की शिकायत पुलिस कमिश्नर के नंबर पर काॅल करके दी। जिसके बाद दोनों सिपाही डेढ घंटे बाद आए और दूर खडे रहे। करीब तीन बजे बाद बुजुर्ग महिला का शव अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया।

प्रयागराज में कोरोना से हाहाकार, नैनी जेल में 123 कैदी मिले संक्रमित

Previous article

स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के लिए टीम 11 के साथ मुख्यमंत्री ने की बैठक

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.