msme navneet सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम को तकनीक से जोड़ने की कवायद शरू,सैपियो एनालिटिक्स साथ हुआ समझौता

लखनऊ। प्रदेश सरकार ने सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों को तकनीक से जोड़ने के उद्देश्य से सैपियो एनालिटिक्स  के साथ एमओयू साइन किया गया। कैसरबाग स्थित निर्यात प्रोत्साहन भवन में गुरूवार को आयोजित कार्यक्रम में अपर मुख्य सचिव, एमएसएमई, डा नवनीत सहगल एवं सैपियो एनालिटिक्स के चीफ आपरेटिंग आफिसर हार्दिक सोमानी द्वारा एमओयू का आदान-प्रदान किया गया।  इस समझौते के तहत सैपियो एनालिटिक्स द्वारा राज्य के 20,000 उद्योगों को 72 करोड़ रुपये के ऑटोमेशन सॉफ्टवेयर एक्कलाउड के लाइसेंस नि:शुल्क रूप से दिये जायेंगे।

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि इस समझौते के अन्तर्गत प्रदेश की एमएसएमई इकाइयों को उनकी लेखा प्रक्रियाओं को स्वचालित करने में मदद मिलेगी और आसानी से उद्यम से जुड़े लोग अपना जीएसटी दर्ज कर सकेंग। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार की इस पहल का उद्देश्य राज्य के बहुत छोटे व्यापारियों को समर्थ बनाकर मुख्य धारा में शामिल करने का है। साथ ही अन्य छोटे और माध्यम वर्गीय व्यवसायों को उनके विकास में मदद करना है। २०,००० इकाइयों से इस ऑटोमेशन की शुरुआत की जा रही है। इसके साथ ही उद्यमियों टैक्स फाइलिंग और प्रबंधन सहित सभी लेखांकन और सूची प्रबंधन प्रक्रियाओं को स्वचालित करने में सहायता भी मिलेगी। इसके अतिरिक्त उद्यमी अपने उत्पादों की बिक्री और खरीद प्रबंधन में सक्षम बनेंगे।

महिला मोर्चा की क्षेत्रीय कार्यकारिणी घोषित, रेशू भाटिया बनीं कोषाध्यक्ष

Previous article

किसानों को पौधे लगाने के लिए अनुदान देगी सरकार

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured