डोनाल्ड ट्रम्प प्रशासन पर एक बार फिर शट डाउन की चपेट में

वाशिंगटन। अमेरिका एक बार फिर नाटकीय ढंग से तीन सप्ताह में दूसरी बार शट डाउन की चपेट में आ गया है। सरकारी खर्च के लिए अस्थायी बजट गुरुवार की आधी रात तक पारित नहीं हो सका, जबकि इसकी मियाद खत्म हो गई। अब पूरक बजट पारित कराने के लिए शुक्रवार को सुबह छह बजे तक प्रतीक्षा करनी पड़ सकती है।अन्यथा अमेरिकी प्रशासन शुक्रवार से पंगू हो जाएगी। विदित हो कि सत्ता पक्ष डेमोक्रेट की शर्तों को मानने के मूड में नहीं है। यही वजह है कि सत्ताधारी रिपब्लिकन पार्टी और विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के बीच कोई समझौता नहीं हो सका।

बता दें कि विदित हो कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रस्ताव पर सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी के नेता मिच केनोल (केंटुकी) और सीनेट में डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता चुक शूमर(न्यूयार्क) ने अगले दो वर्षों के लिए सैन्य शक्ति को सुदृढ़ करने और प्रशासनिक ख़र्चों के लिए अतिरिक्त पांच सौ अरब डाॅलर तक व्यय किए जाने पर सहमति जता दी थी। इस पर प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता नैंसी पेलोसी और सीनेट में तेज़ तर्रार और अनुभवी रैंड पाल ने अलग-अलग कारणों से दोनों ही सदनों में मत विभाजन की मांग की थी।

वहीं रैंड पाल ने गुरुवार को सीनेट में ज़ोर देकर कहा था कि खरबों डॉलर के घाटे के किसी प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया जा सकता है। इस मुद्दे को लेकर वह अपनी पार्टी के राष्ट्रपति बराक ओबामा से भी भिड़ गए थे। उधर प्रतिनिधि सभा में नैंसी पेलोसी ने मांग की थी कि जब तक ‘डीएसीए ड्रीमर’ को लेकर आव्रजन पर कोई सार्थक फ़ैसला नहीं होता है तब तक वह ऐसे किसी भी साझौते को स्वीकार करने को बाध्य नहीं हैं।