यारों दोस्ती बड़ी ही हसीन है……….दोस्तों से फिर कर लें दोस्ती

नई दिल्ली। भगवान ने सिर्फ मिट्टी का इंसान नहीं बनाया बल्कि उसमें एहसास भी डाला। इस दुनिया में सारे रिश्ते खास हैं और इसी खास रिश्ते में सबसे बेहतरीन एहसास होता है दोस्ती का।

 

दोस्ती के सामने हर रिश्ता फीका पड़ जाता है। अगर कभी कॉलेज के दोस्त मिलते हैं तो बीते दिनों को यादकर आप काफी खुश हो जाते हो। यह एक ऐसा रिश्ता है जो आपको खुशी, प्यार, अपनापन, नाराजगी, विश्वास के साथ अनेक इमोशस को अपने अंदर समेटे हुए होता है।

प्यार अपनी जगह होता है, लेकिन दोस्ती का रिश्ता उससे भी बढ़कर माना जाता है। अगर आप भी अपनी जिंदगी में बिजी है और परिवार में उलझ के रह जाते हैं तो जरुरत है अपने दोस्तों को याद करने की।

ऑफिस की आपा-धापी, परिवार की टेंशन, प्य़ार का दर्द इन सबमें अगर उलझ कर रह गए हों तो अपने दोस्त से मिले।अगर बड़ा ग्रुप है तो सबसे मिले और डिनर या लंच करें। पूराने दोस्तों के साथ पूरानी यादों में खो जाए और अपनी सारी टेंशन भूल जाएं।

हर वक्त दोस्तों से बात करते रहना मुमकिन नहीं हो पाता।ऐसे मे अपने दोस्त को जन्मदिन या कुछ खास मौके पर कॉल जरुर करें। कभी-कभी बेवजह भी कॉल कर लें और हाल-चाल ही पूछ लें।याद रखें अगर आपके पास एक अच्छा दोस्त होगा तो आपकी जिंदगी बहुत खुशनुमा हो जाएगी।