अयोध्या में आज से हुई ‘दिवाली महोत्सव’ की शुरूआत, सीएम कर सकते कुछ खास घोषणा

भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या में पिछले साल दिवाली को भव्य महोत्सव का आयोजन किया गया था। इस दिवाली में भी अयोध्या में दिवाली को बड़े ही निराले अंमदाज में मनाने की कवायद जोरों पर है। प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ खुद इस बात को कह चुके हैं कि दिवाली के बाद ही कोई काम होगा। इसका मतलब साफ है सीएम समेत पूरे सरकारी तंत्र का ध्यान महोत्सव की तैयारी पर रहा है। जिसका नतीजा भी सामने है और इसका मूर्त रूप आज शाम को ही देखने को मिलने वाला है।

 

अयोध्या में आज से हुई 'दिवाली महोत्सव' की शुरूआत, सीएम कर सकते कुछ खास घोषणा
अयोध्या में आज से हुई ‘दिवाली महोत्सव’ की शुरूआत, सीएम कर सकते कुछ खास घोषणा

इसे भी पढेःअयोध्या दीपोत्सव की तैयारी जोरों पर,कुछ इस तरह मनायी जाएगी दिवाली

बता दें कि आज अयोध्या में 3 लाख दीयों की जगमगाहट दिखेगी। जैसा कि सीएम ऐलान कर चुके हैं कि अयोध्या वासियों रामराज्य की अयोध्या का एहसास होगा।गौरतलब है कि इस भव्य आयोजन की साक्षी दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला भी होंगी। हिंदुस्तान में राम मंदिर निर्माण को लेकर छिड़ी बहस के बीच मंगलवार को रामनगरी अयोध्या दीपों से सजाई जा रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में आज अयोध्या में ऐतिहासिक दीपोत्सव मनाया जाएगा। इस भव्य आयोजन की साक्षी दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जंग सूक भी बनेंगी। किम जंग सूक भी अयोध्या पहुंच चुकी हैं।

अयोध्या की सड़कों पर हुआ झांकी का संचालन

मालूम हो कि मंगलवार दोपहर को अयोध्या में झांकी निकाली। रामायण के किरदारों के साथ अयोध्या की सड़कों पर झांकी का संचालन हुआ। पूरे रास्ते लोगों ने सभी का स्वागत किया।इस दौरान हजारों की भीड़ सड़कों देखी गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अयोध्या पहुंच हैं। सीएम राम की नगरी में कोई बड़ी घोषड़ा कर सकते हैं। मुख्मंत्री और किम जंग सूक के पहुंचने के बाद सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया गया।

छोटी दिवाली के मौके पर अयोध्या में सरयू नदी के तट पर ना सिर्फ आज लाखों दीपक जलेंगे बल्कि लेज़र लाइट की झलक से तट टिमटिमा उठेगा। साथ ही भव्य रामलीला का मंचन भी देखने को मिलेगा। पिछले कुछ दिनों से देशभर में संत समाज, राजनीतिक दलों और रामभक्तों की तरफ से अयोध्या में रामजन्मभूमि पर मंदिर निर्माण की मांग जोरों पर है। ऐसे में कयास लग रहे हैं कि अयोध्या में मनाई जा रही दिवाली संतों को थामने के लिए कारगर साबित हो सकती है।

महेश कुमार यादव