विवादित फिल्म ‘नानक शाह फकीर’ मान्यता रद्द करवाने के लिए डीसी को ज्ञापन सौंपा

चंडीगढ़। विवादित फिल्म ‘नानक शाह फकीर’ की मान्यता रद्द करवाने के लिए शुक्रवार सुबह वेलफेयर सोसाइटी धारीवाल, बाबा बंदा सिंह सोसाइटी सोहल और 1984 दंगा पीड़ित सोसाइटी धारीवाल ने संयुक्त तौर पर रोष मार्च निकालने के उपरांत गुरदासपुर के डिप्टी कमिश्नर गुरलवलीन सिंह को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि सेंसर बोर्ड व केन्द्र सरकार द्वारा विवादित फिल्म ‘नानक शाह फकीर’ को रिलीज करने न दिया जाए।

बता दें कि सिख नेता तनवीर सिंह समेत अन्य ने कहा कि सिख धर्म की भावनाओं का सम्मान करते हुए विवादित फिल्म के निर्माता व प्रोड्यूसर खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में केस दर्ज किया जाए। सिख नेताओं ने कहा कि फिल्मों के जरिए हमारी आने वाली युवा पीढ़ी को श्री गुरु ग्रंथ साहिब से हटाने की साजिश को कामयाब नहीं होने दिया जाएगा।

वहीं विवादित फिल्म ‘नानक शाह फकीर’ को आज देश के अधिक राज्यों में दिखाया नहीं जा रहा है। निर्माता हरिंदर सिक्का ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करके फिल्म रिलीज करने की अनुमति ले ली है लेकिन फिल्म का लगातार विरोध हो रहा है। निर्माता हरिंदर सिंह सिक्का को सबक सिखाने के लिए बीते कल पांच सिंह साहिबानों ने अकाल तख्त में बैठक के बाद पंथ से उसे निष्कासित कर दिया है। उधर, विवादित फिल्म ‘नानक शाह फकीर’ के विरोध में पूरे पंजाब में सिख संगतों द्वारा शांतिपूर्वक प्रदशर्न लगातार जारी है। जिला पटियाला में सिख संगत ने ऐलान किया है कि नानक शाह फकीर के विरोध में रोष मार्च भी निकाला जाएगा।