manchester 2 पत्थर-बमों के बीच जवानों को मरने के लिए नहीं छोड़ सकता-रावत

नई दिल्ली। सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कश्मीर घाटी में पत्थरबाजों से निपटनें के लिए सेना की जीप पर कश्मीरी युवक को बांधे जाने की घटना का बचाव किया हैं इसके साथ ही उन्होनें सभी को साथ लेकर कश्मीर मुद्दे के ठोस हल पर जोर दिया है।

उन्होनें बातचीत में बताया कि कश्मीरी में डर्टी वॅार से निपटने के लिए सैनिकों को नए-नए तरीके अखित्यार करने पड़ते हैं इसके साथ ही उन्होनें कहा लोग जब हम पर पत्थराव करल रहे हो और पेट्रोल बम फेंक रहे हो तो मैं अपने लोगों से देखते रहने और मरने के लिए नही कह सकता।

कश्मीरी घाटी में जारी विरोध प्रदर्शन और पथराव और घटनाओें को लेकर सेना प्रमुख ने कहा मैं खुश होता अगर प्रदर्शनकारी पत्थपर फेंकने के बजाए हथियारों से फायर कर रहे होते इसके साथ उन्होनें कहा कि कश्मीर मुद्दे के ठोस हल की जरुरत हैं और हर किसी को इसमें शामिल होना चाहिए।

दरअसल पिछले महीनें सोशल मीडिया पर एक विडियो वायरल हुआ था जिसमें सेना एक कश्मीरी को जीप से बांधकर ले जाती हुई दिख रही थी जीप पर इस तरह युवक को बांधकर मेजर लीतिई गोगोई को पिछले दिनों सम्मानित किया गया था जिस पर घाटी के अलगाववादी नेताओें और कुछ दलें ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी हांलाकि गोगोई ने पूरी घटना का ब्योरा देते के लिए बताया कि यह पूरा स्थानीय लोगों की जान बचाने के लिए हैं।

सीएम योगी ने फिर किया प्रशासनिक फेरबदल, 222 पीसीएस अफसरों का हुआ तबादला

Previous article

पाकिस्तान ने किया एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in देश