January 25, 2022 11:27 am
हेल्थ

COVID-19 के बाद हो सकती हैं ये पाचन संबंधी समस्याएं, इन लक्षणों पर दें ध्यान

health 1 COVID-19 के बाद हो सकती हैं ये पाचन संबंधी समस्याएं, इन लक्षणों पर दें ध्यान
कोविड संक्रमण न केवल श्वसन प्रणाली यानि respiratory system को प्रभावित करता ही है। साथ ही साथ दूसरी लहर में यह शरीर के अन्य अंगों, मुख्य रूप से पाचन तंत्र को भी प्रभावित कर रहा है ।
यह देखा गया है कि कोविड के ठीक होने के बाद पाचन संबंधी समस्याएं आम हो गई हैं ।  रोगियों में सूजन, गैसीयता, अम्लता, एसिड रिफ्लक्स, कब्ज और इरिटेबल बाउल सिंड्रोम (IBS) की समस्या देखी गई है ।
डॉक्टर्स की चेतावनी
डॉक्टर्स ने चेतावनी दी है कि लोगों को अतिरिक्त देखभाल करने की आवश्यकता है, क्योंकि वायरस “जठरांत्र संबंधी मार्ग यानि gastrointestinal tract (जीआई) के कामकाज को बाधित करता है. ये अग्न्याशय और पित्ताशय के इलेक्ट्रोलाइट्स और तरल पदार्थ को अवशोषित करने के अपने कर्तव्यों को पूरा करने में असमर्थ बनाता है ।
मरीजों को गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट में रक्तस्राव भी हो सकता है या रक्त वाहिकाओं में रक्त के थक्के हो सकते हैं.  जिससे इस्किमिया (प्रतिबंधित / कम बूड प्रवाह) और गैंग्रीन हो सकता है। यहां कुछ लक्षण दिए गए हैं जिनके लिए आपको समय पर उपचार सुनिश्चित करने के लिए अपने डॉक्टर से जांच कराने की आवश्यकता है।
अम्ल प्रतिवाह(Acid reflux)
भूख में कमी या भूख में वृद्धि
उदरीय सूजन(Abdominal bloating)
पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द
कब्ज़
दस्त
उल्टी
जीआई ब्लीडिंग
आंतों की सूजन
जीआई के लक्षण तब भी होते हैं जब वायरस ऊतकों को नष्ट या क्षति पहुंचाते हैं. जिससे दर्द, मतली और दस्त होते हैं। शोध से पता चलता है कि कोविड आंत के माइक्रोबायोटा को भी बदल सकते हैं।
ये सावधानियां बरतने की जरूरत
न्यूट्रास्यूटिकल्स और इम्यून बूस्टर दवाएं लेने से बचें
खान-पान का ध्यान रखें, सादा रखें
फास्ट फूड और ज्यादा खाने से बचें
सक्रिय रहें और नियमित रूप से व्यायाम करें

Related posts

लखनऊः कहीं आपका सैनिटाइजर भी तो नकली नहीं? शोध में हुआ बड़ा खुलासा

Shailendra Singh

Benefits of Ashwagandha: क्या महिलाओं के लिए भी फायदेमंद है अश्वगंधा?

Neetu Rajbhar

यकीन मानिए इस उम्र में होती है सेक्स की ज्यादा इच्छा

Rahul srivastava