VASHUNDHARA 1 धौलपुर की बहुदार बेटी, बदमाशों की साजिश पर फेरा पानी, अब वसुंधरा को मिला तोहफा

धौलपुर: अपनी जान दांव पर लगाकर अपराधियों की साजिश को नाकाम करने वाले वसुंधरा चौहान को गहलोत सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है। वसुंधरा चौहान को राज्य ने उप निरीक्षक के पद पर सीधी नियुक्ति देने का निर्णय किया है। महिला दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए वसुंधरा के अदम्य साहस एवं शौर्य को देखते हुए इसकी मंजूरी दे दी है।

VASHUNDHARA 2 धौलपुर की बहुदार बेटी, बदमाशों की साजिश पर फेरा पानी, अब वसुंधरा को मिला तोहफा

क्या है पूरा मामला?

दरअसल 3 मार्च को पुलिस कस्टडी में उम्रकैद की सजा काट रहे अपराधी धर्मेन्द्र उर्फ लुक्का को धौलपुर में पेशी के बाद रोडवेज बस से भरतपुर की सेवर जेल में ले जा रहा था। तभी रास्त में हाथियारबंद पांच बदमाशों ने बस को रोक लिया। और उसमें सवार हो गए। बस में सवार होकर बदमाशों ने चालानी गार्डो की आंखों में मिर्च पाउडर झोंक दिया और उनके हथियार छीनने की कोशिश करने लगे। इन बदमाशों में से एक ने देशी कट्टे से फायर कर अन्य यात्रियों को भी डराने की कोशिश की।

वसुंधरा चौहान ने दिखाई बहादुरी

इस दौरान बस में सवार वसुंधरा एवं एक अन्य आरएसी जवान कमर सिंह ने जान की परवाह किए बगैर अपराधियों से भिड़ गए। वसुंधरा ने बदमाशों से भिड़ गई। और कमर सिंह पर हमला कर रहे दो बदमाशों को उनके हथियारों सहित नीचे गिरा दिया। दोनों का साहस देख बस में सवार अन्य यात्री तथा चालानी गार्ड भी बदमाशों से आमने-सामने हो गए। इससे बदमाशों में हडकंप मच गया और वे बस से भाग खड़े हुए। बहादुरी के लिए राज्य सरकार आरएसी कांस्टेबल कमर सिंह को हेड कांस्टेबल के पद पर पदोन्नति कर दिया। तो वहीं वसुंधरा को प्रशस्ति पत्र से सम्मानित भी कर चुकी है।

VASUNDHARA 3 धौलपुर की बहुदार बेटी, बदमाशों की साजिश पर फेरा पानी, अब वसुंधरा को मिला तोहफा

कौन हैं वसुंधरा चौहान?

धौलपुर के शिवनगर कॉलोनी की निवासी 25 वर्षीय वसुंधरा ने एनसीसी निदेशालय से सी सर्टिफिकेट प्राप्त किया हुआ है। और वह क्रिमिनोलॉजी विषय सहित समाज विज्ञान में एमए उत्तीर्ण है। पुलिस अधीनस्थ सेवा नियमों में उप निरीक्षक की सीधी भर्ती के लिए एनसीसी के सी सर्टिफिकेट धारक तथा क्रिमिनोलॉजी में डिग्री प्राप्त अभ्यर्थी को साक्षात्कार में प्राथमिकता देने का प्रावधान है। नियुक्ति के लिए उसे राजस्थान पुलिस अधीनस्थ सेवा नियम 1989 के नियम 17 (2 ) (ए) के तहत आयु, शैक्षणिक योग्यता, शारीरिक दक्षता, मेडिकल फिटनेस एवं चरित्र सत्यापन की अर्हता को पूरा करना होगा। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर बहादुर युवती को पुलिस सेवा में नियुक्ति को मंजूरी देकर गहलोत ने प्रदेश की महिलाओं के सशक्तीकरण की दिशा में बड़ा कदम उठाया है।

धौलपुर से इरफान अहमद की रिपोर्ट

यूपी: GRP और RPF को बड़ी कामयाबी, ट्रेन से एक करोड़ 10 हजार की नकली करेंसी बरामद

Previous article

बटला हाउस एनकाउंटर, कोर्ट का आया फ़ैसला, फ़ैसले पर रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर साधा निशाना

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured