featured धर्म

Radha Ashtami 2021: कल मनाई जाएगी राधा अष्टमी, जानिए, कैसे करें राधा रानी और भगवान श्रीकृष्ण की पूजा?

tc1ib9kg radha Radha Ashtami 2021: कल मनाई जाएगी राधा अष्टमी, जानिए, कैसे करें राधा रानी और भगवान श्रीकृष्ण की पूजा?

कल यानी 14 सितंबर को राधा अष्टमी का पर्व मनाया जाएगा। जन्माष्टमी के पर्व के 15 दिन बाद राधा अष्टमी का पर्व मनाया जाता है। राधा अष्टमी के पर्व के विशेष धार्मिक महत्व बताया गया है। इस पर्व में भगवान श्रीकृष्ण और राधा की विशेष पूजा की जाती है।

कल मनाया जाएगा राधा अष्टमी का पर्व

कल राधा अष्टमी का पर्व मनाया जाएगा। इस पर्व में भगवान श्रीकृष्ण और राधा की विशेष पूजा की जाती है। जन्माष्टमी के पर्व के 15 दिन बाद राधा अष्टमी का पर्व मनाया जाता है। राधा अष्टमी के पर्व के विशेष धार्मिक महत्व बताया गया है। राधा अष्टमी की पूजा सभी दुखों को दूर करने वाली मानी गई हैं। माना जाता है कि राधा अष्टमी का व्रत सभी प्रकार के पापों को भी नष्ट करता है।

व्रत रखने के साथ-साथ ऐसे करें पूजा

राधा अष्टमी के दिन सुबह स्नान करने के बाद निवृत होकर सफा कपड़े पहनें। इसके बाद मंडप के नीचे मंडल बनाकर उसके मध्यभाग में मिट्टी या तांबे का कलश स्थापित करें। कलश पर तांबे का पात्र रखें और इस पर सजाकर राधाजी की मूर्ति को स्थापित करें। इसके बाद राधाजी का षोडशोपचार से पूजन करें। अब विधि विधान पूर्वक पूजन करके पूरा दिन उपवास रखें। दूसरे दिन श्रद्धापूर्वक दान आदि दें।

भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष में होती है राधा अष्टमी

भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी को राधा अष्टमी का पर्व मनाया जाता है। पंचांग के अनुसार राधा अष्टमी का पर्व कल यानी मंगलवार को भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की अष्टमी की तिथि को मनाया जाएगा। भादो शुक्ल पक्ष की अष्टमी की तिथि को राधा अष्टमी भी कहा जाता है।

14 सितंबर को ज्येष्ठा नक्षत्र

पंचांग के अनुसार कल यानी 14 सितंबर को ज्येष्ठा नक्षत्र रहेगा। इस दिन 07 बजकर 05 मिनट तक ज्येष्ठा नक्षत्र रहेगा। इसके बाद मूल नक्षत्र शुरू होगा। राधा अष्टमी पर विशेष शुभ योग भी बन रहा है। इस योग को आयुष्मान योग का निर्माण हो रहा है। यानि राधा अष्टमी का व्रत और पूजा इसी योग में की जाएगी।

राधा अष्टमी के व्रत का विशेष महत्व

राधा अष्टमी का पर्व जीवन में आने वाली धन की समस्या की भी दूर करता है। राधा अष्टमी का व्रत रखने से सभी प्रकार के कष्टों को दूर रहा जा सकता है। सुहागिन स्त्रियां इस दिन व्रत रखकर राधा जी की विशेष पूजा करती हैं। इस दिन पूजा करने से अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है। इस व्रत को रखने से जीवन में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

Related posts

युवक हिंदू बनकर की महिला से दोस्ती, नशीला पदार्थ खिलाकर किया दुष्कर्म

Trinath Mishra

सीएम योगी बोले- साढ़े 4 साल पहले तक सबकुछ होने के बावजूद हर क्षेत्र में पिछड़े थे, बिगड़ी व्यवस्था को हमने पारदर्शी व्यवस्था बनाया

Saurabh

अखिलेश-मायावती के निशाने पर योगी सरकार, DAP रेट और महिला सुरक्षा पर घेरा

Shailendra Singh