September 20, 2021 8:06 pm
धर्म

5 अगस्त 2021 का पंचांगः आज है सावन माह का पहला प्रदोष व्रत, ये है शुभ और समय, ऐसे करें शिव जी की आरती

Aaj Ka Panchang
आज 5 अगस्त है । आज के दिन सावन माह का पहला प्रदोष व्रत है। इस दिन भगवान शिव और मां पार्वती की पूजा की जाती है।
आज भगवान विष्णु की भी की जाती है  पूजा 
आज गुरुवार है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। विष्णु जी की पूजा करने से घर में सुख-समृद्धि आती है और भक्तों के सारे कष्ट दूर होते हैं।
आज का पंचांग

आज की तिथि- द्वादशी – 17:11:48 तक
आज का नक्षत्र – आर्द्रा – पूर्ण रात्रि तक
आज का करण – तैतिल – 17:11:48 तक
आज का पक्ष – कृष्ण
आज का योग – हर्शण – 25:12:00 तक
आज का वार – गुरूवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय – 05:44:22
सूर्यास्त – 19:09:29
चन्द्रोदय – 27:17:00
चन्द्रास्त – 16:55:00
चन्द्र राशि – मिथुन

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत – 1943 प्लव
विक्रम सम्वत – 2078
काली सम्वत – 5123
दिन काल – 13:25:07
मास अमांत – आषाढ
मास पूर्णिमांत – श्रावण
शुभ समय – 12:00:05 से 12:53:45 तक

अशुभ मुहूर्त

दुष्टमुहूर्त – 10:12:44 से 11:06:24 तक, 15:34:47 से 16:28:27 तक
कुलिक – 10:12:44 से 11:06:24 तक
कंटक – 15:34:47 से 16:28:27 तक
राहु काल – 14:07:33 से 15:48:12 तक
कालवेला / अर्द्धयाम – 17:22:08 से 18:15:48 तक
यमघण्ट – 06:38:02 से 07:31:42 तक
यमगण्ड – 05:44:22 से 07:25:00 तक
गुलिक काल – 09:05:38 से 10:46:17 तक

 

भोलेनाथ जी की आरती

जय शिव ओंकारा ॐ जय शिव ओंकारा ।
ब्रह्मा विष्णु सदा शिव अर्द्धांगी धारा ॥ ॐ जय शिव…॥

एकानन चतुरानन पंचानन राजे ।
हंसानन गरुड़ासन वृषवाहन साजे ॥ ॐ जय शिव…॥

दो भुज चार चतुर्भुज दस भुज अति सोहे।
त्रिगुण रूपनिरखता त्रिभुवन जन मोहे ॥ ॐ जय शिव…॥

अक्षमाला बनमाला रुण्डमाला धारी ।
चंदन मृगमद सोहै भाले शशिधारी ॥ ॐ जय शिव…॥

श्वेताम्बर पीताम्बर बाघम्बर अंगे ।
सनकादिक गरुणादिक भूतादिक संगे ॥ ॐ जय शिव…॥

कर के मध्य कमंडलु चक्र त्रिशूल धर्ता ।
जगकर्ता जगभर्ता जगसंहारकर्ता ॥ ॐ जय शिव…॥

ब्रह्मा विष्णु सदाशिव जानत अविवेका ।
प्रणवाक्षर मध्ये ये तीनों एका ॥ ॐ जय शिव…॥

काशी में विश्वनाथ विराजत नन्दी ब्रह्मचारी ।
नित उठि भोग लगावत महिमा अति भारी ॥ ॐ जय शिव…॥

त्रिगुण शिवजीकी आरती जो कोई नर गावे ।
कहत शिवानन्द स्वामी मनवांछित फल पावे ॥ ॐ जय शिव…॥

Related posts

अगर उलझे हैं ग्रह नक्षत्रों की चाल में तो एक बार जरूर आजमाएं ये उपचार

bharatkhabar

बांके बिहारी के प्राकट्य उत्सव पर निधिवन में मची धूम

piyush shukla

कामिका एकादशी आज, ऐसे करें भगवान विष्णु को प्रसन्न, ये है पूजा की विधि और शुभ मुहूर्त

Rahul