धर्म

आज का पंचांग : 11 सितंबर को कौन सा मुहूर्त है खास, ऋषि पंचमी का व्रत आज

आज का पंचांग 11 सितंबर को कौन सा मुहूर्त है खास ऋषि पंचमी का व्रत आज आज का पंचांग : 11 सितंबर को कौन सा मुहूर्त है खास, ऋषि पंचमी का व्रत आज

वैदिक पंचांग के अनुसार, आज 11 सितंबर 2021 दिन शनिवार, भाद्रपद शुक्ल पक्ष पंचमी तिथि है। इस दिन ऋषि पंचमी का व्रत किया जाता है। इस दिन भगवान शिव के साथ मां दुर्गा की उपासना करें। शनिवार का व्रत करें। साथ ही इस दिन दानपुण्य  का बहुत महत्व है| 

आज का पंचांग

  1. विक्रम संवत – 2078, आनन्द
  2. शक सम्वत – 1943, प्लव
  3. पूर्णिमांत – भाद्रपद
  4. अमांत – भाद्रपद

तिथि

  1. शुक्ल पक्ष पंचमी   – Sep 10 09:58 शाम – Sep 11 07:37 शाम
  2. शुक्ल पक्ष षष्ठी  – Sep 11 07:37 शाम – Sep 12 05:20 शाम

नक्षत्र

  1. स्वाति – Sep 10 12:58 शाम – Sep 11 11:23 सुबह
  2. विशाखा – Sep 11 11:23 सुबह – Sep 12 09:50 सुबह

करण

  1. बव – Sep 10 09:58 शाम – Sep 11 08:47 सुबह
  2. बालव – Sep 11 08:47 सुबह – Sep 11 07:37 शाम
  3. कौलव – Sep 11 07:37 शाम – Sep 12 06:28 सुबह

योग

  1. इन्द्र – Sep 10 05:42 शाम – Sep 11 02:41 शाम
  2. वैधृति – Sep 11 02:41 शाम – Sep 12 11:43 सुबह

सूर्य और चंद्रमा का समय

सूर्योदय – 6:04 सुबह

सूर्यास्त – 6:23 शाम

चन्द्रोदय – Sep 11 10:18 सुबह

चन्द्रास्त – Sep 1 9:33 शाम

शुभ मुहूर्त

  • ब्रह्म मुहूर्त– 04:32 सुबह से 05:18 सुबह
  • अभिजित मुहूर्त– 11:53 सुबह से 12:42 शाम
  • विजय मुहूर्त– 02:22 शाम से 03:12 शाम
  • गोधूलि मुहूर्त– 06:18 शाम से 06:42 शाम
  • अमृत काल– 01:36 सुबह, सितम्बर 12 से 03:06 सुबह, सितम्बर 12
  • निशिता मुहूर्त– 11:55 शाम से 12:41 सुबह, सितम्बर 12
  • सर्वार्थ सिद्धि योग– 06:04 सुबह से 11:23 सुबह

अशुभ मुहूर्त

  • राहुकाल– 09:11 सुबह से 10:44 सुबह
  • यमगण्ड– 01:51 शाम से 03:24 शाम
  • गुलिक काल– 06:04 सुबह से 07:37 सुबह
  • विडाल योग– 11:23 सुबह से 06:04 सुबह, सितम्बर 12
  • वर्ज्य- 04:37 शाम से 06:07 शाम
  • दुर्मुहूर्त– 06:04 सुबह से 06:54 सुबह

Related posts

गुरु पूर्णिमा क्यो मनाया जाता है, पढ़े इसके पीछे की कहानी

Srishti vishwakarma

5 जनवरी 2022 का राशिफल: किस राशि के लिए आज का दिन है खास, जानें सभी 12 राशियों का राशिफल

Neetu Rajbhar

जानिए विश्वकर्मा पूजा का शुभ मुहूर्त और उनसे जुड़ी कथा के बारे में

Kalpana Chauhan