धर्म

आज का पंचांग : पंचक में ना करें कोई शुभ व मंगल कार्य, जानें आज का दिन किस इष्ट देवता को है समर्पित

0521 aaj ka panchang 18 july 2019 आज का पंचांग : पंचक में ना करें कोई शुभ व मंगल कार्य, जानें आज का दिन किस इष्ट देवता को है समर्पित

आज के पंचांग के अनुसार 23 सितंबर 2021, दिन गुरुवार अश्विन मास की कृष्ण पक्ष की द्वितीय तिथि है। द्वितीय तिथि 23 सितंबर की प्रातः को समाप्त हो जाएगी और तृतीय तिथि आरंभ हो जाएगी। साथ ही आज की तिथि को पंचक भी समाप्त हो जाएगा। पंचक 18 सितंबर 2021 को 3:23 शाम भाद्रपद शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि से आरंभ हुआ था। द्वितीय तिथि समाप्त होने के बाद तृतीय तिथि आरंभ है तृतीय तिथि श्राद्ध में काफी महत्वपूर्ण मानी जाती है।

तृतीया तिथि की स्वामी मां पार्वती और भगवान शिव है, और गुरुवार के भगवान विष्णु जी ऐसे में भगवान शिव, पार्वती व विष्णु की पूजा करने से दीर्घायु प्राप्त होते हैं। 

आज का पंचांग

विक्रम संवत – 2078, आनन्द

शक सम्वत – 1943, प्लव

पूर्णिमांत – आश्विन

अमांत – भाद्रपद

वार – गुरुवार

अयन – दक्षिणायन

द्रिक ऋतु – शरद

तिथि
  • कृष्ण पक्ष द्वितीया – Sep 22 05:52 सुबह – Sep 23 06:54 सुबह
  • कृष्ण पक्ष तृतीया – Sep 23 06:54 सुबह – Sep 24 08:30 सुबह
नक्षत्र
  • रेवती – Sep 22 05:06 सुबह – Sep 23 06:44 सुबह
  • अश्विनी – Sep 23 06:44 सुबह – Sep 24 08:54 सुबह
करण
  • गर – Sep 22 06:19 शाम – Sep 23 06:54 सुबह
  • वणिज – Sep 23 06:54 सुबह – Sep 23 07:38 शाम
  • विष्टि – Sep 23 07:38 शाम – Sep 24 08:30 सुबह
योग
  • ध्रुव – Sep 22 01:54 शाम – Sep 23 01:48 शाम
  • व्याघात – Sep 23 01:48 शाम – Sep 24 02:08 शाम

सूर्य और चंद्रमा का समय

  • सूर्योदय – 6:19 सुबह
  • सूर्यास्त – 6:18 शाम
  • चन्द्रोदय – 7:59 शाम
  • चन्द्रास्त – 8:58 सुबह

सूर्य और चंद्रमा की राशि

  • सूर्या राशि
  • सूर्य कन्या राशि पर है
  • चंद्र राशि
  • चन्द्रमा सितम्बर 23, 06:44 एएम तक मीन राशि उपरांत मेष राशि पर संचार करेगा

शुभ काल

  • अभिजीत मुहूर्त – 11:55 सुबह – 12:43 शाम
  • अमृत काल – 01:03 सुबह – 02:48 सुबह
  • ब्रह्म मुहूर्त – 04:43 सुबह – 05:31 सुबह

अशुभ काल

  • राहू – 1:48 शाम – 3:18 शाम
  • यम गण्ड – 6:19 सुबह – 7:49 सुबह
  • कुलिक – 9:19 सुबह – 10:49 सुबह
  • दुर्मुहूर्त – 10:19 सुबह – 11:07 सुबह, 03:06 शाम – 03:54 शाम
  • वर्ज्यम् – 04:32 सुबह – 06:17 सुबह

 

Related posts

Chaitra Navratri 2019: 6 अप्रैल को आएंगी मां, 14 को करेंगी प्रस्थान, इस समय करें कलश स्थापना

bharatkhabar

क्या आप गुरुवार का व्रत रखते हैं, यदि हां- तो जरूर करें ये उपाय, खूब मिलेगा फल

bharatkhabar

साल का तीसरा ग्रहण कोरोना में लोगों के जीवन पर क्या डालेगा असर?

Mamta Gautam