November 27, 2021 8:09 pm
featured Life Style लाइफस्टाइल हेल्थ

कोरोना वायरस के बाद डेंगू बना रहा रिकॉर्ड, जाने इसके फैलने की वजह

death of child due to dengue 22047386 कोरोना वायरस के बाद डेंगू बना रहा रिकॉर्ड, जाने इसके फैलने की वजह

कोरोना के खिलाफ लड़ाई चल ही रही है तो डेंगू नए रिकॉर्ड बना रहा है। अक्टूबर महीने में रिकॉर्ड 139 डेंगू के केस आए तो अफसरों के पसीने छूट गए। हफ्ते भर के अंदर ही 3 सालों में डेंगू के सबसे ज्यादा केस आ गए। हैरानी की बात यह है कि देहात से लेकर शहरी क्षेत्र में डेंगू के मरीजों का आंकड़ा अधिक है। हालांकि शहरी क्षेत्र के जिस एरिया में डेंगू के मरीज मिले हैं, वहां नगर निगम की ओर से निरोधात्मक कार्रवाई कराई जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की जांच में रोजाना डेंगू के संदिग्ध लक्षण वाले मरीज सामने आ रहे हैं।

Bengal dengue

बता दें कि दुनिया के तमाम देशों में डेंगू हर साल लाखों लोगों की मौत का कारण बनता है। मानसून खत्म होते-होते भारत में भी हर साल डेंगू के मामले बढ़ने शुरू हो जाते हैं। इस लिहाजे से सितंबर-अक्टूबर के माह में लोगों को डेंगू से बचाव को लेकर विशेष अलर्ट रहने की सलाह दी जाती है। इस गंभीर बीमारी के मामले देश में एक बार फिर से बढ़ते हुए देखे जा रहे हैं। हालिया रिपोर्ट्स के मुताबिक देश के 11 राज्यों में डेंगू के गंभीर संक्रमण के खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार ने अलर्ट जारी किया है। रिपोर्टस के मुताबिक इस बार डेंगू के नए स्ट्रेन ‘सीरोटाइप-2’ के मामले देखे जा रहे हैं, जिन्हें स्वास्थ्य विशेषज्ञ कई मायनों में बेहद खतरनाक मान रहे हैं।

dengue mosquito कोरोना वायरस के बाद डेंगू बना रहा रिकॉर्ड, जाने इसके फैलने की वजह
वहीं डॉक्टरों का कहना है कि डेंगू के अन्य रूपों की तुलना में यह गंभीर जटिलताओं का कारण बन सकता है।स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो डेंगू बुखार के कारण लोगों को गंभीर स्वास्थ्य जटिलताओं जैसे लो ब्लड प्रेशर, सर्दी, चिपचिपी त्वचा, बेचैनी और पल्स रेट में गिरावट जैसी समस्या हो सकती है। इसके अलावा कुछ लोगों में कई और गंभीर स्वास्थ्य संबंधी जटिलताएं हो सकती हैं, जिसके बारे में विशेष सावधान रहने की आवश्यकता है।स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक इस समय लोगों को डेंगू से बचाव के लिए विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

dengue 1 कोरोना वायरस के बाद डेंगू बना रहा रिकॉर्ड, जाने इसके फैलने की वजह

इतना ही नहीं डेंगू के मच्छर दिन में ज्यादा काटते हैं ऐसे में सभी लोगों को इससे बचाव के तरीकों को प्रयोग में लाते रहना चाहिए।पिछले कुछ महीनों की तुलना में कोरोना संक्रमण के मामलों में फिलहाल कमी आई है, इसमें भी कोई दो राय नहीं है कि देश में मौजूदा हालात पहले की तुलना में काफी बेहतर स्थिति में है।जिस तरह से कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण की रफ्तार को तेज कर दिया गया है, यह इस महामारी के खिलाफ जंग को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। हालांकि स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि खतरा अब भी टला नहीं है। कोरोना का डेल्टा वैरिएंट दुनिया के तमाम देशों के लिए अब भी बड़ी मुसीबत का कारण बना हुआ है।

dengue कोरोना वायरस के बाद डेंगू बना रहा रिकॉर्ड, जाने इसके फैलने की वजह

इस समय यह समझना आवश्यक है कि वायरस के खिलाफ युद्ध अभी खत्म नहीं हुआ है और लोगों को कोविड से बचाव के नियमों के पालन में कोई कोताही नहीं बरतनी चाहिए। लिकिन डेंगू नए रिकॉर्ड बना रहा है. बच्चे अपनी विकासशील प्रतिरक्षा प्रणाली के कारण बीमारियों का ज्यादा शिकार होते हैं। जब वे बाहर खेल रहे होते हैं तो तमाम तरह के कीटाणुओं और वायरस के सम्पर्क में आते हैं। सुबह और शाम के वक्त डेंगू के मच्छर सबसे अधिक सक्रिय होते हैं; उसी समय बच्चे घर से बाहर होते हैं…यूपी में डेंगू का थमने का नाम नहीं ले रहा हैं मेरठ में डेंगू के हमले की रफ्तार थम नहीं रही है। बुधवार को जिले में डेंगू के 14 नए मरीज मिले।

muncipal, pamphlet, prevent, dengue, health, dengue
dengue

अब तक जिले में डेंगू के कुल 787 मरीज मिल चुके हैं। मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डा. अशोक तालियान ने बताया कि अब जिले में डेंगू के 231 सक्रिय मरीज हैं। इनमें 138 मरीज विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं और 93 मरीज होम आइसोलेशन पर हैं। वहीं, 556 मरीज डेंगू से रिकवरी हो चुके हैं।एसे ही तमाम जिलों में डेंगू अपना कहर बरपा रहा है.

Related posts

काबुल: भारत के साथ आयात-निर्यात पर तालिबान ने लगाई रोक, भारत से सामान की आवाजाही रुकी

Rahul

शपथ ग्रहण आज, देखें नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में क्या होगी खास बात

bharatkhabar

मुलायम के गढ़ में माया करेंगी चुनावी रैली, दिखाएंगी अपनी ताकत

shipra saxena