Breaking News featured राज्य

दिल्ली मेट्रों की नई योजना, हैवी बैग के साथ नहीं कर पाएंगे मेट्रों में सफर

TT2 दिल्ली मेट्रों की नई योजना, हैवी बैग के साथ नहीं कर पाएंगे मेट्रों में सफर
नई दिल्ली। विश्व के चौथे सबसे बड़े मेट्रों रेल नेटवर्क यानी की डीएमआरसी ने दिल्ली मेट्रों में 15 किलों से ज्यादा ओवरसाइज बैग ले जाने पर जल्द रोक लगाने की तैयार कर रही है। मिली जानकारी के मुताबिक डीएमआरसी 20 मार्च से इस योजना को लागू कर सकती है, जिसके बाद दिल्ली मेट्रों में सफर करने के लिए आपके पास 15 किलों से कम वजन का बैग होना जरूरी है क्योंकि इस योजना के बाद ज्यादा हैवी बैग लेकर ट्रेवल करने वाले यात्रियों को मेट्रों में एंट्री न मिलने पर स्पेंस बरकरार है। इस योजना को नया रूप देने के लिए दिल्ली मेट्रों रेल कॉर्पोरेशन ने बैग जांच के लिए एक्स रे मशीन के साथ यू आकार का मेटल बैरियर लगाया है।
TT2 दिल्ली मेट्रों की नई योजना, हैवी बैग के साथ नहीं कर पाएंगे मेट्रों में सफर
जिन पांच स्टेशनों पर इसे लगाया गया है उसमें बाराखंभा रोड़, आनंद विहार, चांदनी चौक, कश्मीरी गेट और शाहदरा शामिल है। मार्च से डीएमआरी हैवी समान के लिए हर स्टेशन पर इस मशीन की सुविधा कर सकती है। इस सीमा में आदर्श नगर, आजादपुर, बदरपुर, बॉटनिकल गार्डन, चावड़ी बाजार, दिलशाद गार्डन, गोविंदपुर, हुडा सिटी सेंटर, इंद्रलोक, करोल बाग, लाल किला, नांगलोई, आर के आश्रम मार्ग, रिठाला और नई दिल्ली आएंगे। इस योजना को लेकर डीएमआरसी प्रवक्ता का कहना है कि डीएमआरसी के ऑपरेशन और मेंटनंस एक्ट के तहत ऐसा किया जा रहा है ताकि बैग साइज का नियमों का पालन किया जा सके। इसके साथ ही सीआईएफ के इनपुट के आधार पर भी इसे लागू किया जा रहा है।
डीएमआरी के ऑपरेशन और मेन्टनन्स ऐक्ट यात्रियों को 15 किलोग्राम से ज्यादा वजन का सामान ले जाने से रोकता है। ऐक्ट में वस्तु की लंबाई-चौड़ाई भी फिक्स है। इसके तहत लंबाई 60 सेंटीमीटर और चौड़ाई 45 सेमी हो सकती है और ऊंचाई 25 सेमी से ज्यादा नहीं हो सकती है। मेट्रो में ये नियम U आकार के बैरियर के कारण ओवरसाइज बैग लेकर चलने वाला यात्रियों को नई दिल्ली मेट्रों स्टेशन पर बहुत मुश्किल होने वाली है। इस स्टेशन पर यात्रियों की तादाद काफी ज्यादा होती है और उनके पास ओवरसाइज बैग होते ही हैं। उन्होंने कहा कि जिन पांच स्टेशनों पर बैरियर लगाया गया है वहां से अभी हम यात्रियों को ओवरसाइज बैग के कारण वापस नहीं लौटा रहे हैं।

Related posts

अमेठी पहुंचकर राहुल गांधी ने की कांवड़ियों से मुलाकात, कई योजनाओं का करेंगे शिलान्यास

mahesh yadav

राजस्थानः चार श्रेणियों में वितरित होंगे उद्योग रत्न पुरस्कार 23 अगस्त तक कर सकते हैं आवेदन

mahesh yadav

ज्योतिषों के इस कदम ने दिलाया चुनाव आयोग को गुस्सा

shipra saxena