November 28, 2021 4:50 am
देश featured

दिल्लीःस्वास्थ्य मंत्रालय ने निर्माण भवन में एनीमिया शिविर का आयोजन किया

दिल्लीःस्वास्थ्य मंत्रालय ने निर्माण भवन में एनीमिया शिविर का आयोजन किया

स्वास्थ्य मंत्रालय ने नई दिल्ली के निर्माण भवन में 10 दिनों के लिए एनीमिया यानी खून की कमी की जांच और उपचार के लिए शिविर का आयोजन किया गया है। इस शिविर में एनीमिया पर राष्ट्रीय उत्कृष्टता और अग्रणी शोध केन्द्र (एनसीईएआर-ए) द्वारा हीमोग्लोबीन की जांच की जाएगी, और पोषाहार परामर्श भी प्रदान किया जाएगा। शिविर में भाग लेने वालों को तथा आहार पर राष्ट्रीय उत्कृष्टता तथा अग्रणी अनुसंधान केन्द्र (एनसीईएआर-डी, लेडी इरविन कॉलेज) तथा गंभीर कुपोषण के लिए केन्द्र (कलावती शरण बाल चिकित्सालय) के आहार परामर्शदाता परामर्श देंगे।

 

दिल्लीःस्वास्थ्य मंत्रालय ने निर्माण भवन में एनीमिया शिविर का आयोजन किया
दिल्लीःस्वास्थ्य मंत्रालय ने निर्माण भवन में एनीमिया शिविर का आयोजन किया

इसे भी पढ़ेःजयपुर में शुरू हुई आयुष मंत्रालय के साथ WHO कार्यकारी समूह की बैठक 

कम और सामान्य रूप से खून की कमी वाले चिन्हित लोगों को ओरल आईएफए पूरक और परामर्श दिए जाएंगे। और जिन लोगों में खून की काफी कमी है उन्हें उच्च केन्द्रों में प्रबंधन के लिए रेफर किया जाएगा।स्वास्थ्य सचिव प्रीति सुदान ने आज निर्माण भवन में एनीमिया जांच और उपचार केन्द्र का उद्घाटन किया। इस मौके पर मनोज झालानी, एएसएंडएमडी (एनएचएम) तथा संयुक्त सचिव वंदना गुरनानी मौजूद थीं। सितंबर महीने में मनाएं जा रहे पोषण माह के हिस्से के रूप में शिविर आयोजित किए जा रहे हैं।

इस े भी पढे़ः50 करोड़ लोगों को मिलेगा स्वास्थ्य बीमा,1350 बीमारी शामिल

सितंबर, 2018 महीने को पोषण माह घोषित किया गया है और इसका उद्देश्य पोषाहार के संदेशों को प्रत्येक परिवार तक पहुंचाना है। विभिन्न मंत्रालयों व विभागों द्वारा राष्ट्रीय से लेकर ग्रामीण स्तर तक बहुक्षेत्रीय मिश्रित गतिविधियां चलाई जाएगी। प्रमुख हितधारक मंत्रालय हैं महिला और बाल विकास मंत्रालय, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, ग्रामीण विकास मंत्रालय, मानव संसाधन विकास मंत्रालय तथा पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय। इस जन आंदोलन की रणनीति के केन्द्र में वो लोग हैं जो परिवर्तन का इरादा रखते हैं, जो भागीदारों को परिवर्तन अपनाने के लिए प्रभावित करते हैं और समर्थनकारी माहौल बनाते हैं।

महेश कुमार यदुवंशी

Related posts

बच्ची को लगना था 16 करोड़ का इंजेक्शन, पीएम मोदी के एक फैसले ने दिया नया जीवन

Yashodhara Virodai

तो बिहार में अकेले ही चुनाव लड़ेगी जीतन मांझी की पार्टी, जानें क्या कहा पूर्व सीएम ने

bharatkhabar

पीएम मोदी की अगुवाई में प्रधानमंत्री आवास पर केंद्रीय कैबिनेट की बैठक, इन अहम मुद्दों पर चर्चा

Rani Naqvi