September 25, 2021 11:14 am
featured देश

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किया वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए दिल्ली वासियों को संबोधित, जाने क्या कहा

सीएम केजरीवाल कोरोना वायरस | Delhi | Bharatkhabar | Latest News

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए दिल्ली वासियों को संबोधित किया। कोरोना वायरस पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि पिछले रविवार को हमने लॉकडाउन जारी रखने पर चर्चा की थी। इसमें किसी तरह की रियायत दिए जाने के समीक्षा के बाद फैसला लिया जाना था।  मुख्यमंत्री ने कहा कि आज दिल्ली सरकार ने फैसला लिया है कि केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार दिल्ली में भी जरूरी दुकानों को खोलने की अनुमति दी जाएगी। 

मोहल्लों में या सोसायटी में दुकानें खुल सकती हैं, लेकिन यह छूट कंटेनमेंट जोन की दुकानों के लिए लागू नहीं होगी। फिलहाल कोई भी मार्केट या मॉल नहीं खुलेंगे। तीन मई तक केंद्र सरकार ने लॉकडाउन की घोषणा की थी। अब तीन मई के बाद केंद्र सरकार जो फैसला लेगी, उसी के आधार पर लॉकडाउन को लेकर दिल्ली सरकार का फैसला निर्भर करेगा। 

https://www.bharatkhabar.com/can-corona-in-the-country-open-amid-lockdown-salons-beauty-treatments-spa-shops-punya-salila-srivastava-gave-this-answer/

प्लाजमा थेरेपी कर रहा काम

उन्होंने बताया कि दिल्ली के अस्पतालों में प्लाजमा थेरेपी की सहायता से मरीजों का इलाज चल रहा है। मैं खुद हर मरीज पर नजर रख रहा हूं। कल तक मरीज की हालत बहुत बिगड़ रही थी, लेकिन इस थेरेपी से आज सुबह उनकी हालत में बहुत सुधार आया। जो मरीज ठीक होकर घर जा रहे हैं, हम उन्हें दूसरों की जान बचाने के लिए प्लाजमा डोनेट करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से हम सभी को सीख लेनी चाहिए। आज एक दूसरे का प्लाजमा ही एक दूसरे की जान बचाने के काम आ रहा है। इसका मतलब यह है कि अगर हम सब साथ मिलकर खड़े रहेंगे तो कोरोना को हरा सकते हैं। लेकिन अगर एक दूसरे का साथ नहीं देंगे को हालात बिगड़ जाएंगे।

Related posts

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दी विजयादशमी की शुभकामनाएँ, विजयादशमी बताया को बुराई पर अच्छाई की विजय का प्रतीक

Samar Khan

देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के व्यक्तित्व के आगे झुकता था विपक्ष

mahesh yadav

अमेरिका ने कच्चे तेल के आयात पर छूट देने से खींचा हाथ, भारत-चीन पर पड़ेगा ज्यादा असर

bharatkhabar