February 7, 2023 8:38 pm
featured देश

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020: जाने दिल्ली की 70 सीटों का सीट दर सीट समीकरण

दिल्ली चुनाव दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020: जाने दिल्ली की 70 सीटों का सीट दर सीट समीकरण

नई दिल्ली। दिल्ली वोट डाल रही है। सभी पार्टियों और उम्मीदवारों ने पुराने काम, मौजूदा माहौल और भविष्य के सपने दिखा दिए हैं। इस दौरान हमारे 13 रिपोर्टर्स ने जमीनी हकीकत तलाशने के लिए सभी 70 सीटों पर जाकर मूड भांपने की कोशिश की। ज्यादातर सीटों पर मुकाबला त्रिकोणीय है।

रोहिणी: कांग्रेस ने सुमेश गुप्ता और आप ने राजेशनामा बंशीवाला को अपना उम्मीदवार बनाया। बीजेपी से मौजूदा विधायक विजेंद्र गुप्ता दूसरी बार चुनावी मैदान में हैं। विपक्षी दल दम लगाकर उन्हें घेर रहे हैं। नाहरपुर, राजापुर, राजा विहार इस विधानसभा में है। तीनों ही पार्टियों के उम्मीदवार अपनी पूरी ताकत लगाकर चुनाव जीतने की कोशिश में हैं।

नरेला: आप से प्रत्याशी शरद चौहान, कांग्रेस से सिद्धार्थ कुंडू और बीजेपी से नीलदमन खत्री मैदान में हैं। आम आदमी पार्टी ने शरद को दूसरी बार मैदान में उतारा है। पिछले चुनाव में शरद चौहान ने करीब 41 हजार वोट से नीलदमन को हराया था। इस बार आप और बीजेपी में सीधा मुकाबला माना जा रहा है। हालांकि कांग्रेस के उम्मीदवार भी पूरा जोर लगा रहे हैं।

मुंडका: आप से धर्मपाल लाकड़ा, कांग्रेस से नरेश कुमार और बीजेपी से मास्टर आजाद मैदान में हैं। यहां जातिगत समीकरण की भूमिका भी अहम नजर आ रही है। इस सीट से साल 2015 में आप से जीते सुखवीर सिंह दलाल का टिकट काटकर धर्मपाल लाकड़ा को उम्मीदवार बनाया है। बीजेपी ने फिर से मास्टर आजाद को प्रत्याशी बनाया है।

सुल्तानपुर माजरा: आप ने मुकेश कुमार अहलावत, बीजेपी ने रामचंद्र चावड़िया, कांग्रेस ने जयकिशन को प्रत्याशी बनाया है। साल 2015 में आप से प्रत्याशी संदीप ने कांग्रेस के जयकिशन को हराया था। इस बार उन्हें टिकट नहीं दिया गया है। हालांकि इस सीट को कांग्रेस का गढ़ माना जाता रहा है। हैट्रिक लगा चुके जयकिशन एक बार फिर मैदान में हैं।

रिठाला: आप से मोहिंदर गोयल, बीजेपी से मनीष चौधरी, कांग्रेस से प्रदीप कुमार पांडेय मैदान में हैं। पिछले चुनाव में मोहिंदर जीते थे। पार्टी ने फिर से मोहिंदर पर भरोसा जताया है। हालांकि बीजेपी-कांग्रेस ने इस बार प्रत्याशी बदल दिए हैं। आप और बीजेपी में कांटे की टक्कर मानी जा रही है। कांग्रेस भी मुकाबला कर रही है।

बादली: यहां से कांग्रेस उम्मीदवार देवेंद्र यादव मैदान में हैं। वहीं, दूसरी तरफ 5 साल तक क्षेत्रीय विधायक के रूप में काम कर चुके अजेश यादव आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार हैं। बीजेपी प्रत्याशी के रूप में पूर्व डिप्टी मेयर रहे विजय भगत चुनावी मैदान में हैं। वह कहीं ना कहीं पूर्वांचल और यादव वोटर्स को प्रभावित करते हैं। अजेश यादव अपने 5 साल में कामों के आधार पर वोट मांग रहे हैं। देवेंद्र यादव पूर्व में रहे विधायक के तौर पर उन्होंने जो काम किए हैं, वह लोगों को गिना रहे हैं। वहीं, विजय भगत पूर्वांचली चेहरे के रूप में यहां जाने जाते हैं। ऐसे में यहां मुकाबला काफी दिलचस्प रहने वाला है।

किराड़ी: इस सीट पर भी पूर्वांचली वोटर्स बड़ा रोल निभाएंगे। यहां तीनों पार्टियों ने अपने उम्मीदवार को पूर्वांचली चेहरा साबित करने की कोशिश की है। ऋतुराज झा आम आदमी पार्टी के पूर्व विधायक भी हैं और इस बार भी मैदान में है। बीजेपी ने भी किराड़ी से पूर्व विधायक अनिल झा को मैदान में उतारा है। जबकि कांग्रेस के गठबंधन के सहयोगी आरजेडी ने यहां से रियाजुद्दीन खान को प्रत्याशी बनाया है।

Related posts

पीएम के खिलाफ प्रदर्शन, करुणानिधि ने काले कपड़े पहनकर जताया विरोध

lucknow bureua

महाराष्ट्र के राज्यपाल से मिलीं कंगना रनौत

Samar Khan

फॉरेंसिक जांच के लिए तैयार हैं केजरीवाल पर आरोप लगाने वाले कपिल

kumari ashu